Skip to main content

विशाल मार्च निकालकर 'चरित्र निर्माण' का अलख जगाया छात्रों ने


विशाल मार्च निकालकर 'चरित्र निर्माण' का अलख जगाया छात्रों ने


सावी न्यूज़ लखनऊ, 31 अक्टूबर। सिटी मोन्टेसरी स्कूल के हजारों छात्रों ने आज विशाल 'चरित्र निर्माण मार्च निकालकर भावी पीढ़ी के चरित्र निर्माण की पुरजोर आवाज बुलन्द की और संदेश दिया कि चारित्रिक व नैतिक उत्थान के बगैर आदर्श समाज की परिकल्पना साकार नहीं हो सकती है। सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी एवं डा. (श्रीमती) भारती गाँधी की अगुवाई में सी.एम.एस. छात्रों का यह विशाल मार्च गोमती नगर स्थित मकदूमपुर पुलिस चौकी से प्रारम्भ हुआ एवं सी.एम.एस. गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) ऑडिटोरियम पहुँचकर एक विशाल सभा में परिवर्तित हो गया। इस विशाल मार्च के माध्यम से सी.एम.एस. छात्रों ने भावी पीढ़ी के चारित्रिक व नैतिक विकास हेतु सम्पूर्ण समाज में ईश्वरीय वातावरण निर्मित करने का भरपूर उत्साह जगाया। इस विशाल मार्च में सी.एम.एस. की विभिन्न कैम्पस की प्रधानाचार्याओं समेत अनेक गणमान्य हस्तियों ने अपनी उपस्थिति दर्ज करायीसी.एम.एस. छात्रों का चरित्र निर्माण मार्च सी.एम.एस. गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) ऑडिटोरियम पहुँचकर 'मेधावी छात्र सम्मान समारोह में परिवर्तित हो गया, जहाँ विद्यालय के आई.एस.सी (कक्षा-12) के मेधावी छात्रों को पुरष्कृत कर सम्मानित किया गया। समारोह की खास बात रही कि छात्रों के साथ ही उनके माता-पिता व टीचर-गार्जियन को भी सम्मानित किया गया। इस भव्य समारोह में आई.एस.सी. (कक्षा-12) की द्वितीय इण्टर-कैम्पस तुलनात्मक परीक्षा में 92.79 प्रतिशत अंक अर्जित कर टॉपर रही सी.एम.एस. आर.डी.एस. ओ. कैम्पस की छात्रा कोमल हसवानी को विशेष रूप से सम्मानित किया गया एवं उनकी माताजी को फलों व फूलों से तौलकर एवं पिताजी को शाल भेंटकर सम्मानित किया गया। इसके अलावा, द्वितीय इण्टर-कैम्पस कम्परेटिव एक्जामिनेशन की टॉप-10 मेरिट लिस्ट में स्थान अर्जित करने वाले छात्रों एवं सी.एम.एस. के प्रत्येक कैम्पस के टॉपर छात्रों को भी सम्मानित किया गया।


इससे पहले, समारोह का शुभारम्भ दीप प्रज्वलन एवं सी.एम.एस. क्वालिटी अश्योरेन्स एवं इनोवेशन डिपार्टमेन्ट की हेड सुश्री सुस्मिता बासु के स्वागत भाषण से हुआ। छात्रों को सम्बोधित करते हुए सुश्री बासु ने सी.एम.एस. संस्थापक डा. जगदीश गाँधी के व्यक्तित्व व कृतित्व से सीख लेने हेतु छात्रों को प्रेरित किया। इस अवसर पर सी.एम.एस. छात्रों ने वंदे मातरम, स्कूल प्रार्थना, सर्व-धर्म प्रार्थना, विश्व एकता प्रार्थना आदि के सुमधुर तुतिकरण से सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। महानगर कैम्पस के छात्रों द्वारा 'हाउ टू स्कोर 100 प्रतिशम मार्क्स' विषय पर आयोजित वर्ल्ड पार्लियामेन्ट को भी सभी ने खूब सराहा। इसके अलावा, डा. निशान्त मिश्रा, एसोसिएट प्रोफेसर, शिव नादर यूनिवर्सिटी, श्री विकास नरूला, डायरेक्टर, यूनिवर्सिटी ऑफ पेट्रोलियम एण्ड एनर्जी स्टडीज, श्री अनीश धीमान, असिस्टेन्ट डायरेक्टर, ओ.पी. जिन्दल यनिवर्सिटी एवं श्री हरप्रीत सिंह, असिस्टेन्ट डायरेक्टर, अशोका यूनिवर्सिटी ने अलग-अलग विषयों पर छात्रों का मार्गदर्शन किया एवं आगामी बोर्ड परीक्षाओं की तैयारी हेतु जरूरी सुझाव देते हुए उनका उत्साहवर्धन किया।


इस अवसर पर अपने सम्बोधन में सी.एम.एस. प्रेसीडेन्ट प्रो. गीता किंगडन ने शिक्षकों व अभिभावकों का आह्वान किया कि बच्चों के उत्साहवर्धन में कोई कसर ने छोड़ें। उन्होंने छात्रों को शिक्षा में उत्कृष्टता प्राप्त करने के अनेक सुझाव दिए, साथ ही छात्रों व शिक्षकों के बीच आपसी विचार-विमर्श पर भी जोर दिया। सी.एम. एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने छात्रों को आशीर्वाद देते हुए कहा कि इस सम्मान समारोह का उद्देश्य यही है कि अन्य छात्र भी इससे प्रेरणा ले सके एवं अपने कार्यों से अपने माता-पिता व शिक्षकों का नाम रोशन करेंडा. गाँधी ने कहा कि छात्रों को न सिर्फ परीक्षा के लिए अपितु जीवन में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए सदैव तैयार रहना चाहिए। उन्होंने छात्रों को स्वयं पर विश्वास करने, सरल और साधारण जीवन जीने एवं सदा प्रसन्न रहने का सुझाव दिया। समारोह के अन्त में सी.एम.एस. संस्थापिका-निदेशिका व प्रख्यात शिक्षाविद डा. (श्रीमती) भारती गाँधी ने छात्रों व शिक्षकों को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि यह आपकी मेहनत व लगन का ही परिणाम है कि सी.एम.एस. आज सारे विश्व में सराहा जाता है।


Comments

Popular posts from this blog

आत्मा अजर अमर है! मृत्यु के बाद का जीवन आनन्द एवं हर्षदायी होता है!

-आध्यात्मिक लेख  आत्मा अजर अमर है! मृत्यु के बाद का जीवन आनन्द एवं हर्षदायी होता है! (1) मृत्यु के बाद शरीर मिट्टी में तथा आत्मा ईश्वरीय लोक में चली जाती है :विश्व के सभी महान धर्म हिन्दू, बौद्ध, ईसाई, मुस्लिम, जैन, पारसी, सिख, बहाई हमें बताते हैं कि आत्मा और शरीर में एक अत्यन्त विशेष सम्बन्ध होता है इन दोनों के मिलने से ही मानव की संरचना होती है। आत्मा और शरीर का यह सम्बन्ध केवल एक नाशवान जीवन की अवधि तक ही सीमित रहता है। जब यह समाप्त हो जाता है तो दोनों अपने-अपने उद्गम स्थान को वापस चले जाते हैं, शरीर मिट्टी में मिल जाता है और आत्मा ईश्वर के आध्यात्मिक लोक में। आत्मा आध्यात्मिक लोक से निकली हुई, ईश्वर की छवि से सृजित होकर दिव्य गुणों और स्वर्गिक विशेषताओं को धारण करने की क्षमता लिए हुए शरीर से अलग होने के बाद शाश्वत रूप से प्रगति की ओर बढ़ती रहती है। (2) सृजनहार से पुनर्मिलन दुःख या डर का नहीं वरन् आनन्द के क्षण है : (2) सृजनहार से पुनर्मिलन दुःख या डर का नहीं वरन् आनन्द के क्षण है :हम आत्मा को एक पक्षी के रूप में तथा मानव शरीर को एक पिजड़े के समान मान सकते है। इस संसार में रहते हुए

लखनऊ में स्मारक समिति कर्मचारियों का जोरदार प्रदर्शन

लखनऊ में स्मारक समिति कर्मचारियों का जोरदार प्रदर्शन स्मारक कर्मचारियों ने किया कार्य बहिष्कार कर्मचारियों ने विधानसभा घेराव का किया ऐलान जानिए किन मांगों को लेकर चल रहा है प्रदर्शन लखनऊ 2 जनवरी 2024 लखनऊ में स्मारक समिति कर्मचारियों का जोरदार प्रदर्शन स्मारक कर्मचारियों ने किया कार्य बहिष्कार और कर्मचारियों ने विधानसभा घेराव का भी है किया ऐलान इनकी मांगे इस प्रकार है पुनरीक्षित वेतनमान-5200 से 20200 ग्रेड पे- 1800 2- स्थायीकरण व पदोन्नति (ए.सी.पी. का लाभ), सा वेतन चिकित्सा अवकाश, मृत आश्रित परिवार को सेवा का लाभ।, सी.पी. एफ, खाता खोलना।,  दीपावली बोनस ।

आईसीएआई ने किया वूमेन्स डे का आयोजन

आईसीएआई ने किया वूमेन्स डे का आयोजन  लखनऊ। आईसीएआई ने आज गोमतीनगर स्थित आईसीएआई भवम में इन्टरनेशनल वूमेन्स डे का आयोजन किया। कार्यक्रम का शुभारम्भ दीप प्रज्ज्वलन, मोटो साॅन्ग, राष्ट्रगान व सरस्वती वन्दना के साथ हुआ। शुभारम्भ के अवसर पर शाखा के सभापति सीए. सन्तोष मिश्रा ने सभी मेम्बर्स का स्वागत किया एवं प्रोग्राम की थीम ‘‘एक्सिलेन्स / 360 डिग्री’’ का विस्तृत वर्णन किया। नृत्य, गायन, नाटक मंचन, कविता एवं शायरी का प्रस्तुतीकरण सीए. इन्स्टीट्यूट की महिला मेम्बर्स द्वारा किया गया। इस अवसर पर के.जी.एम.यू की सायकाॅयट्रिक नर्सिंग डिपार्टमेन्ट की अधिकारी  देब्लीना राॅय ने ‘‘मेन्टल हेल्थ आफ वर्किंग वूमेन’’ के विषय पर अपने विचार प्रस्तुत किये। कार्यक्रम में लखनऊ शाखा के  उपसभापति एवं कोषाध्यक्ष सीए. अनुराग पाण्डेय, सचिव सीए. अन्शुल अग्रवाल, पूर्व सभापति सीए, आशीष कुमार पाठक एवं सीए. आर. एल. बाजपेई सहित शहर के लगभग 150 सीए सदस्यों ने भाग लिय।