Skip to main content

“यमुना योद्धा” के मालिक राहुल शर्मा का ऐलान

“यमुना योद्धा” के मालिक राहुल शर्मा का ऐलान

  • “यूपी कबड्डी लीग” के दौरान उनकी टीम की हर सफल रेड पर 100 वृक्ष लगाएंगे
  • कबड्डी और संरक्षण: यमुना योद्धाओं की साहसिक हरित पहल

नोएडा : पर्यावरणीय स्थिरता की दिशा में एक अभूतपूर्व कदम बढ़ाते हुए, उत्तर प्रदेश कबड्डी लीग की एक प्रमुख टीम, “यमुना योद्धा” ने आगामी सीज़न में टीम की ओर से होने वाली प्रत्येक सफल रेड पर 100 पेड़ लगाने का वादा किया है। टीम के मालिक राहुल शर्मा द्वारा घोषित इस महत्वाकांक्षी पहल का उद्देश्य खेल भावना के साथ-साथ पर्यावरण संरक्षण के प्रति मजबूत प्रतिबद्धता स्थापित करना है।

राहुल शर्मा, परमार्थ निकेतन ऋषिकेश के परम पूज्य ‘स्वामी चिदानंद सरस्वती जी’ के आशीर्वाद से स्थापित, “वृंदा फाउंडेशन, वृन्दावन” के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) के रूप में कार्यरत हैं। इससे पहले वृंदा फाउंडेशन ने जी20 अंतर्राष्ट्रीय योग महोत्सव का आयोजन किया था और यमुना नदी के प्रति एक मजबूत प्रतिबद्धता दिखाते हुए वह यमुना सफाई कार्यक्रमों पर भी बेहद सक्रिय रूप से काम कर रहे हैं। उनका मिशन एक हरित ग्रह की पैरवी करना और उन तरीकों की खोज करना है जो यह सुनिश्चित करें कि नदियाँ हमेशा हमें जीवन हेतु जल देने वाली स्रोत बनी रहें।‘यमुना योद्धा’ टीम के मालिक राहुल शर्मा ने कहा- "हम सिर्फ कबड्डी मैट पर जीत के लिए नहीं खेल रहे हैं; हम अपने बच्चों और समुदायों के लिए एक हरित, स्वस्थ भविष्य के लिए भी खेल में मेहनत कर रहे हैं। कबड्डी हमारी संस्कृति में समाहित एक रोचक खेल है, और यह खेल हमें लचीलापन, टीम वर्क और रणनीति के मूल्य सिखाता है। अपने प्रदर्शन को वृक्षारोपण से जोड़कर हमारा लक्ष्य जलवायु परिवर्तन के खिलाफ इस महत्वपूर्ण लड़ाई में दूसरों को शामिल होने के लिए प्रेरित करना है।"

‘यमुना योद्धा’ हमेशा से सामुदायिक और सामाजिक पहल में सबसे आगे रहे हैं, लेकिन यह नई पहल पर्यावरण के प्रति उनके समर्पण में एक महत्वपूर्ण कदम है। इस पहल का उद्देश्य यमुना नदी के किनारे पेड़ लगाना है, जिससे वर्षा जल को बनाए रखने में मदद मिलेगी। चूँकि भारत की नदियाँ मुख्यतः वर्षा पर आधारित हैं, उनका प्रवाह पूरे वर्ष, यहाँ तक कि शुष्क मौसम में भी, वनों के सहयोग से बना रहता है। पेड़ यह सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं कि बारिश ख़त्म होने के बाद भी नदियाँ साल के बारह माह बहती रहें। यमुना के निकट वन क्षेत्र बढ़ने से पूरे वर्ष नदियों के जलप्रवाह की निरन्तरता सुनिश्चित करने में मदद मिलेगी।

‘यमुना योद्धाओं’ ने कई पर्यावरण गैर सरकारी संगठनों और स्थानीय सामुदायिक समूहों के साथ साझेदारी की है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि लगाए गए पेड़ों का रखरखाव और पोषण किया जाए, ताकि जीवित रहने की उच्च दर और दीर्घकालिक पारिस्थितिक प्रभाव सुनिश्चित हो सके।

टीम के प्रभावशाली ट्रैक रिकॉर्ड को देखते हुए, टीम के द्वारा की गई प्रत्येक सफल रेड पर 100 पेड़ लगाने की प्रतिबद्धता के परिणामस्वरूप सीजन के दौरान हजारों नए पेड़ रोपे जाने की उम्मीद है। प्रत्येक सफल रेड, जो खिलाड़ियों के कौशल और दृढ़ संकल्प का प्रमाण है, अब पर्यावरण की जीत का भी सबब बनेंगी।

अपनी वृक्षारोपण पहल के अलावा, ‘यमुना योद्धा’ पर्यावरण संरक्षण के महत्व के बारे में लोगों को शिक्षित करने के लिए स्कूलों और समुदायों में जागरूकता अभियान और कार्यशालाएँ आयोजित करेंगे। ये कार्यक्रम वनीकरण के लाभों, जैव विविधता के महत्व और हरित ग्रह में योगदान करने के लिए व्यक्तिगत स्तर पर उठाए जा सकने वाले व्यावहारिक कदमों पर ध्यान केंद्रित करेंगे।

इस पहल से टीम के खिलाड़ी भी बेहद उत्साहित हैं। टीम के मुख्य रेडर रवि कुमार ने अपना उत्साह व्यक्त करते हुए कहा -"अब मैं जो भी रेड करूंगा उसका दोहरा उद्देश्य होगा - अपनी टीम के लिए अंक अर्जित करना और एक ऐसे उद्देश्य में योगदान करना जिससे सभी को फायदा होगा। यह स्मार्ट और जबरदस्त तरीके से खेलने के लिए एक बड़ी प्रेरणा है।"

यमुना योद्धाओं की हरित पहल को पहले ही प्रशंसकों, पर्यावरणविदों और आम जनता से व्यापक समर्थन मिल चुका है। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म टीम के शानदार खेल और स्थिरता के संयोजन के लिए टीम के अभिनव दृष्टिकोण की प्रशंसा से भरे हुए हैं।

जैसे-जैसे उत्तर प्रदेश कबड्डी लीग का नया सीज़न नजदीक आ रहा है, यमुना योद्धा न केवल चैंपियनशिप खिताब के लिए प्रतिस्पर्धा करने के लिए तैयार हो रहे हैं, बल्कि एक शक्तिशाली उदाहरण भी स्थापित कर रहे हैं कि कैसे खेल सकारात्मक बदलाव के लिए उत्प्रेरक हो सकते हैं। प्रत्येक सफल रेड के बदले सैकड़ों नए पेड़ लगने के साथ, टीम के प्रयास पर्यावरण पर एक महत्वपूर्ण और स्थायी प्रभाव डालने के लिए तैयार हैं।

यूपी कबड्डी लीग का उद्घाटन सत्र 11 जुलाई, 2024 से नोएडा इंडोर स्टेडियम में होने वाला है। चैंपियनशिप खिताब के लिए आठ टीमें आपस में प्रतिस्पर्धा करेंगी, जिनमें यमुना योद्धा, नोएडा निन्जा, काशी किंग्स, अवध रामदूत, ब्रिज स्टार्स, संगम चैलेंजर्स, अयोध्या वॉरियर्स और गंगा किंग्स ऑफ मिर्जापुर शामिल हैं। । प्रत्येक टीम में 15 खिलाड़ी शामिल हैं, इस लीग में उत्तर प्रदेश और पूरे भारत के विभिन्न क्षेत्रों से कुल 120 प्रतिभागी शामिल होंगे।

Comments

Popular posts from this blog

आत्मा अजर अमर है! मृत्यु के बाद का जीवन आनन्द एवं हर्षदायी होता है!

-आध्यात्मिक लेख  आत्मा अजर अमर है! मृत्यु के बाद का जीवन आनन्द एवं हर्षदायी होता है! (1) मृत्यु के बाद शरीर मिट्टी में तथा आत्मा ईश्वरीय लोक में चली जाती है :विश्व के सभी महान धर्म हिन्दू, बौद्ध, ईसाई, मुस्लिम, जैन, पारसी, सिख, बहाई हमें बताते हैं कि आत्मा और शरीर में एक अत्यन्त विशेष सम्बन्ध होता है इन दोनों के मिलने से ही मानव की संरचना होती है। आत्मा और शरीर का यह सम्बन्ध केवल एक नाशवान जीवन की अवधि तक ही सीमित रहता है। जब यह समाप्त हो जाता है तो दोनों अपने-अपने उद्गम स्थान को वापस चले जाते हैं, शरीर मिट्टी में मिल जाता है और आत्मा ईश्वर के आध्यात्मिक लोक में। आत्मा आध्यात्मिक लोक से निकली हुई, ईश्वर की छवि से सृजित होकर दिव्य गुणों और स्वर्गिक विशेषताओं को धारण करने की क्षमता लिए हुए शरीर से अलग होने के बाद शाश्वत रूप से प्रगति की ओर बढ़ती रहती है। (2) सृजनहार से पुनर्मिलन दुःख या डर का नहीं वरन् आनन्द के क्षण है : (2) सृजनहार से पुनर्मिलन दुःख या डर का नहीं वरन् आनन्द के क्षण है :हम आत्मा को एक पक्षी के रूप में तथा मानव शरीर को एक पिजड़े के समान मान सकते है। इस संसार में रहते हुए

लखनऊ में स्मारक समिति कर्मचारियों का जोरदार प्रदर्शन

लखनऊ में स्मारक समिति कर्मचारियों का जोरदार प्रदर्शन स्मारक कर्मचारियों ने किया कार्य बहिष्कार कर्मचारियों ने विधानसभा घेराव का किया ऐलान जानिए किन मांगों को लेकर चल रहा है प्रदर्शन लखनऊ 2 जनवरी 2024 लखनऊ में स्मारक समिति कर्मचारियों का जोरदार प्रदर्शन स्मारक कर्मचारियों ने किया कार्य बहिष्कार और कर्मचारियों ने विधानसभा घेराव का भी है किया ऐलान इनकी मांगे इस प्रकार है पुनरीक्षित वेतनमान-5200 से 20200 ग्रेड पे- 1800 2- स्थायीकरण व पदोन्नति (ए.सी.पी. का लाभ), सा वेतन चिकित्सा अवकाश, मृत आश्रित परिवार को सेवा का लाभ।, सी.पी. एफ, खाता खोलना।,  दीपावली बोनस ।

भगवान चित्रगुप्त व्रत कथा पुस्तक का भव्य विमोचन

भगवान चित्रगुप्त व्रत कथा पुस्तक का भव्य विमोचन लखनऊ, जुलाई 2023, अयोध्या के श्री धर्महरि चित्रगुप्त मंदिर में भगवान चित्रगुप्त व्रत कथा पुस्तक का भव्य विमोचन  किया गया। बलदाऊजी द्वारा संकलित तथा सावी पब्लिकेशन लखनऊ द्वारा प्रकाशित इस पुस्तक का विमोचन संत शिरोमणी श्री रमेश भाई शुक्ल द्वारा किया गया जिसमे आदरणीय वेद के शोधक श्री जगदानंद झा  जी भी उपस्थित रहै उन्होने चित्रगुप्त भगवान् पर व्यापक चर्चा की।  इस  अवसर पर कई संस्था प्रमुखो ने श्री बलदाऊ जी श्रीवास्तव को शाल पहना कर सम्मानित किया जिसमे जेo बीo चित्रगुप्त मंदिर ट्रस्ट,  के अध्यक्ष श्री दीपक कुमार श्रीवास्तव, महामंत्री अमित श्रीवास्तव कोषाध्यक्ष अनूप श्रीवास्तव ,कयस्थ संध अन्तर्राष्ट्रीय के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिनेश खरे, अ.भा.का.म के प्रदेश अध्यक्ष श्री उमेश कुमार जी एवं चित्रांश महासभा के कार्वाहक अध्यक्ष श्री संजीव वर्मा जी के अतिरिक्त अयोध्या नगर के कई सभासद भी सम्मान मे उपस्थित रहे।  कार्यक्रम की अध्यक्षता संस्था के अध्यक्ष दीपक श्रीवास्तव जी ने की एवं समापन महिला अध्यक्ष श्री मती प्रमिला श्रीवास्तव द्वारा किया गया। कार्यक्रम