Skip to main content

अप्रैल महीने में जि़ंदगी आपके परदे पर लेकर आ रहा है भावनाओं के ढेर सारे रंग

अप्रैल महीने में जि़ंदगी आपके परदे पर लेकर आ रहा है भावनाओं के ढेर सारे रंग

लखनऊ, जाना-माना चैनल जि़ंदगी, भारतीय दर्शकों के सामने सीमा-पार का कंटेंट पेश करता आ रहा है और दिल छू लेने वाली कहानियों कहने के लिए जाना जाता है। अब यह चैनल अप्रैल महीने में दर्शकों को एक बेहद यादगार सफर पर ले जाने के लिए तैयार है। एक पल में आपकी आंखें नम होंगी तो अगले ही पल आप ठहाके लगाते नजर आएंगे। मोहब्बत की दिलकश कहानियों से लेकर दिलचस्प किस्सों तक आपकी चाहत बढ़ती जाएगी। जिंदगी के शोज़ की इन लड़ियों में भावनाओं का खजाना छुपा हुआ है। हानिया आमिर, फरहान सईद, सजल अली, बिलाल अब्बास खान, सबा कमर, सामी खान जैसे कमाल के कलाकारों के साथ इस महीने प्रदर्शित होने वाले शोज़ निश्चिततौर पर आप पर गहरा असर डालेंगे। #KuchAchaDikhao के जज्बे के साथ, जि़ंदगी का मकसद उम्मीदों से परे जाना है और हर किसी को पसंद आने वाला बेजोड़ मनोरंजन पेश करना है। तो फिर तैयार हो जाइए, भावनाओं की दुनिया में डुबकी लगाने के लिए, क्योंकि जिंदगी अपनी रोचक कहानियों और शानदार परफॉर्मेंस के साथ पूरी तरह तैयार है।

मेरे हमसफर: 10 अप्रैल से प्रसारित हो रहा ‘मेरे हफसफर’ रोमांस से भरपूर एक दिलचस्प कहानी है, जिसमें हानिया आमिर और फरहान सईद प्रमुख भूमिकाओं में हैं। इसमें ब्रिटिश-पाकिस्तानी लड़की हाला की पाकिस्तान में उतार-चढ़ाव भरी जिंदगी दिखाई गई है, जिसे उसके पिता लावारिस छोड़ देते हैं। परिवार से मिले खराब सलूक के बावजूद, हमज़ा के साथ उसका रिश्ता तब तक धीरे-धीरे पनपता रहता है, जब तक कि कुछ राज और गलतफहमियां उनके रिश्ते में दरार नहीं डाल देती। परिवार के बदलते आयाम, धोखे और चौंकाने वाले संबंधों के बीच, यह सीरीज इस सफर को आगे बढ़ाती है। यह मुक्त हो जाने, माफ कर देने और एक-दूसरे से मिलने वाली हिम्मत का सफर है।

सुनो चंदा- 19 अप्रैल से शुरू हो रहा “सुनो चंदा” एक गुदगुदा देने वाली कॉमेडी है। इसमें इक़रा अज़ीज, फरहान सईद, मशाल खान, नबील जुबेरी, सबीना अहमद, नादिया अफगान और फरहान अली आगा नजर आ रहे हैं। यह कहानी केंद्रित है चचेरे भाई-बहनों अरसल और अजिया पर। परिवारों के उत्साह के बावजूद वे गुपचुप तरीके से शादी के अपने आगामी रिसेप्शन को रोकने की चाल चलते हैं। हालांकि, जब उनकी चाल का पर्दाफाश होता है तो अफरा-तफरी और हंसी का माहौल बन जाता है। इससे दर्शकों का मनोरंजन होता रहेगा और उनकी नजरें थम जाएंगी। ह्यूमर और ड्रामे के तड़के के साथ, यह एक देखने लायक और मनोरंजक शो है जोकि आपकी उत्सुकता बढ़ाएगा।

कुछ अनकही- पहली बार 6 अप्रैल को प्रसारित हो रहा, यह एक सोशल रोमांस कॉमेडी है, जिसमें पारिवारिक रिश्तों को दिखाया गया है। इसमें महिलाओं की तरक्की और अलग-अलग पृष्ठभूमि के किरदार हैं। इसकी कहानी मध्यम-वर्गीय परिवार की लड़की आलिया के इर्द-गिर्द घूमती है जोकि रियल एस्टेट में काम करती है। उसे मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है, क्योंकि उसके पिता आगा जान प्रॉपर्टी का एक केस लड़ रहे हैं। पेशेवर झगड़े और आपसी संघर्षों के बीच, आलिया की जि़ंदगी सलमान के साथ उलझ जाती है। इससे चौंकाने वाले ट्विस्ट और भावनात्मक तूफान देखने को मिलता है। सजल अली, बिलाल अब्बास खान, शहरयार मुनावर, सैय्यद मोहम्मद अहमद, मीरा सेठी, कुदसिया अली और वनीजा अहमद जैसे मंझे हुए कलाकारों के साथ यह शो निश्चित तौर पर प्यार, ख्वाहिश और आजकल के पेचीदा रिश्तों की दिलचस्प कहानी होने वाली है।

साराब- तैयार हो जाइए “साराब” के साथ एक दिलकश सफर पर जाने के लिए। यह 3 अप्रैल से प्रसारित होने वाला है। इस रोचक ड्रामे और मनोवैज्ञानिक फिक्शन में सामी खान, सोन्या हुसैन, नज़ीश जहांगीर और घाना अली जैसे सितारों से सजी यह कहानी इतनी दिलचस्प है जिसका किसी को अनुमान भी नहीं हो सकता। यह कहानी है हुरैन की, जिसके अतीत का साया और शिजोफ्रेनिया से उसकी जंग को बड़े ही हैरतअंगेज तरीके से पेश किया गया है। अपने कजिन अस्फंद के साथ उनकी यह प्रेम कहानी दिमागी बीमारी की उलझनों के बावजूद फलती-फूलती है। क्या प्यार सबको मात दे देता है, दिमागी बीमारी की परछाईंयों को भी? इस राज को जानने के लिए देखिए “साराब”, जहां एक ऐसी दुनिया दिखाई गई है, जिसमें सच्चाई और कल्पनाएं बड़े ही दिलचस्प तरीके से धुंधला जाती हैं 

इसके साथ ही बिलाल अब्बास खान, सारा खान और रज़ा तालिश अभिनीत “अब्दुल्लापुर का देवदास” का दिलचस्प फिनाले देखना ना भूलें, जिंदगी के यूट्यूब चैनल पर। इसका निर्देशन किया है अंजुम शहजाद ने और इसे लिखा है शाहिद डोगर ने। प्यार और दोस्ती की उस क्लासिक कहानी का आधुनिक अवतार, 12 अप्रैल को शाम 7:30 बजे प्रसारित किया जाएगा। नोमान इज़ाज़, सवेरा नदीम, अनुशय अब्बासी और अली अंसानी की मुख्य भूमिकाओं वाले इस ड्रामे का अंत देखना ना भूलें।

Comments

Popular posts from this blog

आत्मा अजर अमर है! मृत्यु के बाद का जीवन आनन्द एवं हर्षदायी होता है!

-आध्यात्मिक लेख  आत्मा अजर अमर है! मृत्यु के बाद का जीवन आनन्द एवं हर्षदायी होता है! (1) मृत्यु के बाद शरीर मिट्टी में तथा आत्मा ईश्वरीय लोक में चली जाती है :विश्व के सभी महान धर्म हिन्दू, बौद्ध, ईसाई, मुस्लिम, जैन, पारसी, सिख, बहाई हमें बताते हैं कि आत्मा और शरीर में एक अत्यन्त विशेष सम्बन्ध होता है इन दोनों के मिलने से ही मानव की संरचना होती है। आत्मा और शरीर का यह सम्बन्ध केवल एक नाशवान जीवन की अवधि तक ही सीमित रहता है। जब यह समाप्त हो जाता है तो दोनों अपने-अपने उद्गम स्थान को वापस चले जाते हैं, शरीर मिट्टी में मिल जाता है और आत्मा ईश्वर के आध्यात्मिक लोक में। आत्मा आध्यात्मिक लोक से निकली हुई, ईश्वर की छवि से सृजित होकर दिव्य गुणों और स्वर्गिक विशेषताओं को धारण करने की क्षमता लिए हुए शरीर से अलग होने के बाद शाश्वत रूप से प्रगति की ओर बढ़ती रहती है। (2) सृजनहार से पुनर्मिलन दुःख या डर का नहीं वरन् आनन्द के क्षण है : (2) सृजनहार से पुनर्मिलन दुःख या डर का नहीं वरन् आनन्द के क्षण है :हम आत्मा को एक पक्षी के रूप में तथा मानव शरीर को एक पिजड़े के समान मान सकते है। इस संसार में रहते हुए

लखनऊ में स्मारक समिति कर्मचारियों का जोरदार प्रदर्शन

लखनऊ में स्मारक समिति कर्मचारियों का जोरदार प्रदर्शन स्मारक कर्मचारियों ने किया कार्य बहिष्कार कर्मचारियों ने विधानसभा घेराव का किया ऐलान जानिए किन मांगों को लेकर चल रहा है प्रदर्शन लखनऊ 2 जनवरी 2024 लखनऊ में स्मारक समिति कर्मचारियों का जोरदार प्रदर्शन स्मारक कर्मचारियों ने किया कार्य बहिष्कार और कर्मचारियों ने विधानसभा घेराव का भी है किया ऐलान इनकी मांगे इस प्रकार है पुनरीक्षित वेतनमान-5200 से 20200 ग्रेड पे- 1800 2- स्थायीकरण व पदोन्नति (ए.सी.पी. का लाभ), सा वेतन चिकित्सा अवकाश, मृत आश्रित परिवार को सेवा का लाभ।, सी.पी. एफ, खाता खोलना।,  दीपावली बोनस ।

भगवान चित्रगुप्त व्रत कथा पुस्तक का भव्य विमोचन

भगवान चित्रगुप्त व्रत कथा पुस्तक का भव्य विमोचन लखनऊ, जुलाई 2023, अयोध्या के श्री धर्महरि चित्रगुप्त मंदिर में भगवान चित्रगुप्त व्रत कथा पुस्तक का भव्य विमोचन  किया गया। बलदाऊजी द्वारा संकलित तथा सावी पब्लिकेशन लखनऊ द्वारा प्रकाशित इस पुस्तक का विमोचन संत शिरोमणी श्री रमेश भाई शुक्ल द्वारा किया गया जिसमे आदरणीय वेद के शोधक श्री जगदानंद झा  जी भी उपस्थित रहै उन्होने चित्रगुप्त भगवान् पर व्यापक चर्चा की।  इस  अवसर पर कई संस्था प्रमुखो ने श्री बलदाऊ जी श्रीवास्तव को शाल पहना कर सम्मानित किया जिसमे जेo बीo चित्रगुप्त मंदिर ट्रस्ट,  के अध्यक्ष श्री दीपक कुमार श्रीवास्तव, महामंत्री अमित श्रीवास्तव कोषाध्यक्ष अनूप श्रीवास्तव ,कयस्थ संध अन्तर्राष्ट्रीय के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिनेश खरे, अ.भा.का.म के प्रदेश अध्यक्ष श्री उमेश कुमार जी एवं चित्रांश महासभा के कार्वाहक अध्यक्ष श्री संजीव वर्मा जी के अतिरिक्त अयोध्या नगर के कई सभासद भी सम्मान मे उपस्थित रहे।  कार्यक्रम की अध्यक्षता संस्था के अध्यक्ष दीपक श्रीवास्तव जी ने की एवं समापन महिला अध्यक्ष श्री मती प्रमिला श्रीवास्तव द्वारा किया गया। कार्यक्रम