Skip to main content

स्टार भारत के हाल ही में लॉन्च हुए शो 'शैतानी रस्में' के मुख्य अभिनेता विभव रॉय और नकियाह हाजी ने 'नवाबों के शहर - लखनऊ' का दौरा किया।

स्टार भारत के हाल ही में लॉन्च हुए शो 'शैतानी रस्में' के मुख्य अभिनेता विभव रॉय और नकियाह हाजी ने 'नवाबों के शहर - लखनऊ' का दौरा किया।

लखनऊ-फरवरी, 15, 2024 :  अपनी नई और अनोखी कहानियोंके लिए प्रसिद्ध स्टारभारत, अपनी नई  पेशकश,'शैतानी रस्में', एक अभूतपूर्व 'फैंटेसीथ्रिलर' शो के साथ दर्शकों का मनोरंजन कर रहे है| 'देवो के देव महादेव', 'सिया के राम' और 'द एडवेंचर्स ऑफ हातिम' जैसे प्रशंसित शो में उनके उल्लेखनीय योगदान के लिए पहचाने जाने वाले प्रसिद्ध निर्देशक और निर्माता निखिल सिन्हा द्वारा ट्रायंगल फिल्म कंपनी के प्रतिष्ठित बैनर के तहत निर्मित ये नया शो है| 'शैतानी रस्में'  ये शो हर सोमवार-शनिवार रात 10 बजे स्टार भारत पर प्रसारित होता है।

'शैतानी रस्में' की कहानी निक्की के किरदार के इर्द-गिर्द घूमती है, जिसे प्रतिभाशाली अभिनेत्री नकियाह हाजी ने कुशलतापूर्वक निभाया है, ये कहानी एक अनाथ लड़की की है जो पीयूष में अपने लिए प्यार की खोज करती है, पीयूष एक भूरानगढ़ के प्रतिष्ठित गेहलोत परिवार के राजकुमार है जिसे अभिनेता विभव रॉय द्वारा चित्रित किया गया है। कहानी में एक अनोखा मोड़ तब आता है जब वह  विवाह की राह पर आगे बढ़ते हैं, पीयूष के परिवार द्वारा छिपाए गए रहस्यों से वह अनजान होते है , भूरानगढ़ लौटने पर, उनके सामने दिल दहला देने वाले डरावने रहस्यों का खुलासा हुवा, जिसमें राक्षस मालिक के साथ परिवार के समझौते के बारे में उन्हें पता चलता है। निक्की अपनी शादी की सारी रस्में पूरी करने के लिए बहुत घबराई हुई होती है , निक्की अपने आप को इन रस्मों के जाल में उलझा हुवा पाती है और वह इस परिस्थिति से बाहर निकलने की कोशिश करती है  - क्या वह इन रस्मों से खुद को छुड़ाने में  सफल होगी, या उसे अंतिम बलिदान देने के लिए मजबूर किया जायेगा?

चैनल ने, सांस्कृतिक शहर लखनऊ, जिसे नवाबों के शहर के नाम से जाना जाता है, इस शहर में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस(पत्रकार परिषद) आयोजित की, जिसमें प्रतिभाशाली कलाकार विभव रॉय और नकियाह हाजी शामिल थे, जिन्होंने शो में पीयूष और निक्की की मुख्य भूमिकाएँ निभाईं है। इस परिषद का मुख्य उद्देश्य शो की शुरुआत के बाद से अभिनेताओं को और शो को दर्शकों से मिल रहे जबरदस्त प्यार और समर्थन का जश्न मनाना था।

लखनऊ में , अभिनेता विभव रॉय और नकियाह हाजी ने एक रेडियो स्टेशन और प्रमुख प्रकाशन गृहों में उपस्थिति दर्ज करके प्रचार के प्रयासों को बढ़ावा दिया। इन बातचीत के दौरान कई महत्वपूर्ण चर्चाओं में शामिल होकर, कलाकारों ने शो के बारे में उन्हें जानकारी प्रदान की, सेट पर हुए अपने अनुभवों को याद किया और लखनऊ के कुछ प्रसिद्ध पाक व्यंजनों को मज्जा लिया।

लखनऊ की अपनी यात्रा के बारे में बात करते हुए नकियाह ने साझा किया "अपने शो 'शैतानी रस्में' के प्रचार के लिए यह मेरी लखनऊ की पहली यात्रा है। लखनऊ ने अपनी समृद्ध सांस्कृतिक विरासत के कारण मुझे हमेशा आकर्षित किया है। इस शहर के बेहतरीन कपड़े और स्वादिष्ट व्यंजन मुझे बहुत पसंद है। इन जोश से भरे स्वागत करने वाले लोगों के बीच हमारे शो को बढ़ावा देने के लिए मुख्य अभिनेत्री  के रूप में यहां रहना एक अद्भुत अनुभव रहा है। दर्शकों ने मेरे किरदार निक्की और हमारे शो के प्रति जो जबरदस्त प्यार और समर्थन दिखाया है, वह वास्तव में मेरे लिए असाधारण है। मैं इस खूबसूरत शहर का दौरा करने और ऐसे अद्भुत लोगों के साथ बातचीत करने के अवसर के लिए आभारी हूं, जिन्होंने हमारे शो को खुली बांहों से अपनाया है।"

अपनी लखनऊ यात्रा के अनुभव को साझा करते हुए विभव रॉय ने कहा,  “लखनऊ का दौरा एक दिल छू लेने वाला खूबसूरत अनुभव रहा है। मीडिया और स्थानीय लोगों से जो प्रेम हमें मिला है वो अविस्मरणीय है। हमारे शो "शैतानी रस्में" को मिले अपार प्यार को देखते हुए, यह स्पष्ट है कि दर्शक शो से बहुत ही गहराई से जुड़े हुए हैं। लखनऊ, अपनी समृद्ध सांस्कृतिक विरासत के लिए प्रसिद्ध है, और दर्शकों के स्नेह का जश्न मनाने के लिए एकदम सही जगह है। मैं वास्तव में अपने किरदार को मिले जबरदस्त प्यार से कृतज्ञ हूं और शो को इतना प्यार देने के लिए दर्शकों का आभारी हूं।''

नए स्टोरीलाइन के बारे में बात करते हुए चैनल के एक प्रवक्ता का कहना है, “स्टार भारत का शो 'शैतानी रस्में', अलौकिक क्षेत्र में एक अभूतपूर्व शो है,  यह शो डरावनी कथा में एक अद्भुत  अनुभव प्रदान करने का  वादा करता है। अपनी विशिष्ट दृश्य कथा के साथ, यह डर के अनोखे क्षेत्रों का चित्रण करता है, और एक फैंटसी ड्रामा पेश करता है| लोगों को शो में डरावनी दृश्य देखने मिलेगी जो दर्शकों की डर की परिभाषा बदलेंगी, जो इससे पहले टेलीविज़न पर कभी नहीं हुवा| 

निक्की की दिलचस्प यात्रा को देखने के लिए देखते रहिये 'शैतानी रस्में' हर सोमवार से शनिवार रात 10 बजे  सिर्फ स्टार भारत पर!

Comments

Popular posts from this blog

आत्मा अजर अमर है! मृत्यु के बाद का जीवन आनन्द एवं हर्षदायी होता है!

-आध्यात्मिक लेख  आत्मा अजर अमर है! मृत्यु के बाद का जीवन आनन्द एवं हर्षदायी होता है! (1) मृत्यु के बाद शरीर मिट्टी में तथा आत्मा ईश्वरीय लोक में चली जाती है :विश्व के सभी महान धर्म हिन्दू, बौद्ध, ईसाई, मुस्लिम, जैन, पारसी, सिख, बहाई हमें बताते हैं कि आत्मा और शरीर में एक अत्यन्त विशेष सम्बन्ध होता है इन दोनों के मिलने से ही मानव की संरचना होती है। आत्मा और शरीर का यह सम्बन्ध केवल एक नाशवान जीवन की अवधि तक ही सीमित रहता है। जब यह समाप्त हो जाता है तो दोनों अपने-अपने उद्गम स्थान को वापस चले जाते हैं, शरीर मिट्टी में मिल जाता है और आत्मा ईश्वर के आध्यात्मिक लोक में। आत्मा आध्यात्मिक लोक से निकली हुई, ईश्वर की छवि से सृजित होकर दिव्य गुणों और स्वर्गिक विशेषताओं को धारण करने की क्षमता लिए हुए शरीर से अलग होने के बाद शाश्वत रूप से प्रगति की ओर बढ़ती रहती है। (2) सृजनहार से पुनर्मिलन दुःख या डर का नहीं वरन् आनन्द के क्षण है : (2) सृजनहार से पुनर्मिलन दुःख या डर का नहीं वरन् आनन्द के क्षण है :हम आत्मा को एक पक्षी के रूप में तथा मानव शरीर को एक पिजड़े के समान मान सकते है। इस संसार में रहते हुए

लखनऊ में स्मारक समिति कर्मचारियों का जोरदार प्रदर्शन

लखनऊ में स्मारक समिति कर्मचारियों का जोरदार प्रदर्शन स्मारक कर्मचारियों ने किया कार्य बहिष्कार कर्मचारियों ने विधानसभा घेराव का किया ऐलान जानिए किन मांगों को लेकर चल रहा है प्रदर्शन लखनऊ 2 जनवरी 2024 लखनऊ में स्मारक समिति कर्मचारियों का जोरदार प्रदर्शन स्मारक कर्मचारियों ने किया कार्य बहिष्कार और कर्मचारियों ने विधानसभा घेराव का भी है किया ऐलान इनकी मांगे इस प्रकार है पुनरीक्षित वेतनमान-5200 से 20200 ग्रेड पे- 1800 2- स्थायीकरण व पदोन्नति (ए.सी.पी. का लाभ), सा वेतन चिकित्सा अवकाश, मृत आश्रित परिवार को सेवा का लाभ।, सी.पी. एफ, खाता खोलना।,  दीपावली बोनस ।

भगवान चित्रगुप्त व्रत कथा पुस्तक का भव्य विमोचन

भगवान चित्रगुप्त व्रत कथा पुस्तक का भव्य विमोचन लखनऊ, जुलाई 2023, अयोध्या के श्री धर्महरि चित्रगुप्त मंदिर में भगवान चित्रगुप्त व्रत कथा पुस्तक का भव्य विमोचन  किया गया। बलदाऊजी द्वारा संकलित तथा सावी पब्लिकेशन लखनऊ द्वारा प्रकाशित इस पुस्तक का विमोचन संत शिरोमणी श्री रमेश भाई शुक्ल द्वारा किया गया जिसमे आदरणीय वेद के शोधक श्री जगदानंद झा  जी भी उपस्थित रहै उन्होने चित्रगुप्त भगवान् पर व्यापक चर्चा की।  इस  अवसर पर कई संस्था प्रमुखो ने श्री बलदाऊ जी श्रीवास्तव को शाल पहना कर सम्मानित किया जिसमे जेo बीo चित्रगुप्त मंदिर ट्रस्ट,  के अध्यक्ष श्री दीपक कुमार श्रीवास्तव, महामंत्री अमित श्रीवास्तव कोषाध्यक्ष अनूप श्रीवास्तव ,कयस्थ संध अन्तर्राष्ट्रीय के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिनेश खरे, अ.भा.का.म के प्रदेश अध्यक्ष श्री उमेश कुमार जी एवं चित्रांश महासभा के कार्वाहक अध्यक्ष श्री संजीव वर्मा जी के अतिरिक्त अयोध्या नगर के कई सभासद भी सम्मान मे उपस्थित रहे।  कार्यक्रम की अध्यक्षता संस्था के अध्यक्ष दीपक श्रीवास्तव जी ने की एवं समापन महिला अध्यक्ष श्री मती प्रमिला श्रीवास्तव द्वारा किया गया। कार्यक्रम