Skip to main content

डांडिया उत्सव का कार्यक्रम बहुत ही भव्य और हर्षोंल्लास के साथ मनाया गया

डांडिया उत्सव का कार्यक्रम बहुत ही भव्य और हर्षोंल्लास के साथ मनाया गया

LUCKNOW : वैश्य समाज सेवा उत्तर प्रदेश एवं हिंदू महिला मंडल के संयुक्त तत्वधान में गतवर्षों की भांति इस वर्ष भी 17 अक्टूबर दिन मंगलवार को शाम 4ः00 बजे लाटूश रोड स्थित होटल एसपी इंटरनेशनल पर डांडिया उत्सव का कार्यक्रम बहुत ही भव्य और हर्षोंल्लास के साथ मनाया गया। सबसे पहले कार्यक्रम के आयोजन राजेंद्र गुप्ता (शिमला परिवार) ने भगवान गणेश जी एवं मां दुर्गा जी का विधि विधान से पूजन अर्चन कर आरती उतारी। उन्होंने कहा कि हमारे सभी कार्यक्रम सामाजिक होतें है जिससे हमारी आने वाली पीढ़ी को अपनी संस्कृति से परिचय बना रहें। 

इसके बाद ढोली तारो ढोल बाजे ढोल बाजे, डम डम बाजे ढोल........ मधुबन में जो कन्हैया किसी गोपी से मिले राधा कैसे न जले राधा कैसे न जले......... आयो आयो रे आयो रे मारो ढोलना....... नगाड़ा संग ढोल बाजे....... नाम रे सबसे बड़ा तेरा नाम..... डांडिया के इन इन सुपरहिट सदाबहार सुमधुर गीतों पर थिरकते लोगों के पैर और मोहक के अदाओं की गवाह बनी शाम। मौका था डांडिया उत्सव का जो मंगलवार की शाम लाटूश रोड स्थित होटल एसपी इंटरनेशनल में वैश्य समाज सेवा उत्तर प्रदेश तथा हिंदू महिला मंडल द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित किया गया।

 क्या छोटे और क्या बड़े। नवरात्रि की तीसरी शाम हर कोई डांडिया की मस्ती में डूबा रहा। न केवल महिलाएं एवं बच्चे बल्कि युगलों ने भी बड़े उत्साह के साथ डांडिया उत्सव में अपने हाथ आजमाएं। एक के बाद एक हिंदी और गुजराती डांडिया गीतों की झड़ी में गानों के रंग और गहराते जा रहे थे। जैसे-जैसे समय बीतता गया वैसे-वैसे डांडिया की यह शाम और सुहावनी होती चली गई। डांस फ्लोर पर डांस कर रहे लोगों के परिजन हर पल की मोहक अदाओं को अपने कैमरे में कैद करने को आतुर दिखे। इतना ही नहीं बच्चों का अपने मम्मी पापा दादा दादी और परिजनों के साथ डांडिया में झूमना उनके लिए एक अत्यंत सुहाना अनुभव रहा। कार्यक्रम में महिलाओं एवं बच्चों ने कई गुजराती गीतों पर भी डांडिया की छड़िया नचाई और अपने पैर थिरकाए। कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण युगल डांडिया नृत्य रहा जिसमें लोगों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। 

 डांडिया के इस पारंपरिक रंगारंग कार्यक्रम में सभी समाज के लोग परंपरागत गुजराती परिधान और पगड़ी पहनकर रंग बिरंगी सजी डांडिया छड़ियों के साथ जब गुजराती से मधुर गीतों पर नृत्य कर रहे थे तो मानव ऐसा लगा कि समूचा गुजरात कार्यक्रम परिसर में समा गया हो। 

कार्यक्रम में प्रमुख रूप से अजयलक्ष्मी, संचालन एवं उपाध्यक्ष इंदिरा उपाध्याय, किरण गुप्ता, जयश्री प्रिया गुप्ता, पत्रकार अर्चना कश्यप, रेनू सिन्हा, सोनू मिश्रा, वंदना त्रिपाठी, हेमा जोशी, गिरिजा शंकर जोशी, एडवोकेट अंजू गुप्ता, दीपमाला साहू, आयुषी गुप्ता, स्वाति गुप्ता, बबीता चैरसिया, सरिता गुप्ता, सीनू गुप्ता, प्राची गुप्ता, डाॅ. रुबीराज सिन्हा, अन्नपूर्णा द्विवेदी, सीता गुप्ता, पूर्व सभासद रूपाली गुप्ता, डॉक्टर प्रियंका शर्मा तथा बच्चों की टोली में वान्या, वंश, मिष्ठी आदि बच्चों ने भाग लिया। कार्यक्रम के अंत में आयोजक राजेंद्र गुप्ता शिमला परिवार ने आए हुए सभी लोगों का आभार व धन्यवाद व्यापित किया।

Comments

Popular posts from this blog

आत्मा अजर अमर है! मृत्यु के बाद का जीवन आनन्द एवं हर्षदायी होता है!

-आध्यात्मिक लेख  आत्मा अजर अमर है! मृत्यु के बाद का जीवन आनन्द एवं हर्षदायी होता है! (1) मृत्यु के बाद शरीर मिट्टी में तथा आत्मा ईश्वरीय लोक में चली जाती है :विश्व के सभी महान धर्म हिन्दू, बौद्ध, ईसाई, मुस्लिम, जैन, पारसी, सिख, बहाई हमें बताते हैं कि आत्मा और शरीर में एक अत्यन्त विशेष सम्बन्ध होता है इन दोनों के मिलने से ही मानव की संरचना होती है। आत्मा और शरीर का यह सम्बन्ध केवल एक नाशवान जीवन की अवधि तक ही सीमित रहता है। जब यह समाप्त हो जाता है तो दोनों अपने-अपने उद्गम स्थान को वापस चले जाते हैं, शरीर मिट्टी में मिल जाता है और आत्मा ईश्वर के आध्यात्मिक लोक में। आत्मा आध्यात्मिक लोक से निकली हुई, ईश्वर की छवि से सृजित होकर दिव्य गुणों और स्वर्गिक विशेषताओं को धारण करने की क्षमता लिए हुए शरीर से अलग होने के बाद शाश्वत रूप से प्रगति की ओर बढ़ती रहती है। (2) सृजनहार से पुनर्मिलन दुःख या डर का नहीं वरन् आनन्द के क्षण है : (2) सृजनहार से पुनर्मिलन दुःख या डर का नहीं वरन् आनन्द के क्षण है :हम आत्मा को एक पक्षी के रूप में तथा मानव शरीर को एक पिजड़े के समान मान सकते है। इस संसार में रहते हुए

लखनऊ में स्मारक समिति कर्मचारियों का जोरदार प्रदर्शन

लखनऊ में स्मारक समिति कर्मचारियों का जोरदार प्रदर्शन स्मारक कर्मचारियों ने किया कार्य बहिष्कार कर्मचारियों ने विधानसभा घेराव का किया ऐलान जानिए किन मांगों को लेकर चल रहा है प्रदर्शन लखनऊ 2 जनवरी 2024 लखनऊ में स्मारक समिति कर्मचारियों का जोरदार प्रदर्शन स्मारक कर्मचारियों ने किया कार्य बहिष्कार और कर्मचारियों ने विधानसभा घेराव का भी है किया ऐलान इनकी मांगे इस प्रकार है पुनरीक्षित वेतनमान-5200 से 20200 ग्रेड पे- 1800 2- स्थायीकरण व पदोन्नति (ए.सी.पी. का लाभ), सा वेतन चिकित्सा अवकाश, मृत आश्रित परिवार को सेवा का लाभ।, सी.पी. एफ, खाता खोलना।,  दीपावली बोनस ।

भगवान चित्रगुप्त व्रत कथा पुस्तक का भव्य विमोचन

भगवान चित्रगुप्त व्रत कथा पुस्तक का भव्य विमोचन लखनऊ, जुलाई 2023, अयोध्या के श्री धर्महरि चित्रगुप्त मंदिर में भगवान चित्रगुप्त व्रत कथा पुस्तक का भव्य विमोचन  किया गया। बलदाऊजी द्वारा संकलित तथा सावी पब्लिकेशन लखनऊ द्वारा प्रकाशित इस पुस्तक का विमोचन संत शिरोमणी श्री रमेश भाई शुक्ल द्वारा किया गया जिसमे आदरणीय वेद के शोधक श्री जगदानंद झा  जी भी उपस्थित रहै उन्होने चित्रगुप्त भगवान् पर व्यापक चर्चा की।  इस  अवसर पर कई संस्था प्रमुखो ने श्री बलदाऊ जी श्रीवास्तव को शाल पहना कर सम्मानित किया जिसमे जेo बीo चित्रगुप्त मंदिर ट्रस्ट,  के अध्यक्ष श्री दीपक कुमार श्रीवास्तव, महामंत्री अमित श्रीवास्तव कोषाध्यक्ष अनूप श्रीवास्तव ,कयस्थ संध अन्तर्राष्ट्रीय के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिनेश खरे, अ.भा.का.म के प्रदेश अध्यक्ष श्री उमेश कुमार जी एवं चित्रांश महासभा के कार्वाहक अध्यक्ष श्री संजीव वर्मा जी के अतिरिक्त अयोध्या नगर के कई सभासद भी सम्मान मे उपस्थित रहे।  कार्यक्रम की अध्यक्षता संस्था के अध्यक्ष दीपक श्रीवास्तव जी ने की एवं समापन महिला अध्यक्ष श्री मती प्रमिला श्रीवास्तव द्वारा किया गया। कार्यक्रम