Skip to main content

जीजेसी ने भारत का सबसे बड़ा शॉपिंग फेस्टिवल 'इंडिया ज्वैलरी शॉपिंग फेस्टिवल, 2023' लॉन्च किया

जीजेसी ने भारत का सबसे बड़ा शॉपिंग फेस्टिवल 'इंडिया ज्वैलरी शॉपिंग फेस्टिवल, 2023' लॉन्च किया

  • विजेताओं को पुरस्कार के रूप में दिए जाएंगे लगभग 35 करोड़ रुपये के आभूषण 
  • 4 करोड़ एनआरआई अब हर साल आईजेएसएफ के दौरान आभूषणों की खरीदारी के लिए आ सकते हैं भारत 

कानपुर, 14 अक्टूबर 2023: आभूषण निर्माताओं, थोक विक्रेताओं, खुदरा विक्रेताओं और निर्यातकों को एकजुट करने वाली शीर्ष  संस्था, ऑल इंडिया जेम एंड ज्वेलरी डोमेस्टिक काउंसिल (जीजेसी) ने आज कानपुर में ज्वेलरी शॉपिंग फेस्टिवल (आईजेएसएफ) के शुभारंभ की घोषणा की। यह लॉन्च देशभर के 300 शहरों में 15 अक्टूबर से 22 नवंबर तक किया जाएगा। यह आयोजन डिवाइन सॉलिटेयर्स द्वारा द्वारा संचालित कियागया । बॉलीवुड अभिनेत्री संगीता बिजलानी की उपस्थिति ने कार्यक्रम में चार चाँद लगा दिए।

यह आयोजन बी2बी और बी2सी दोनों तरह के सेगमेंट को लाभ प्रदान करेगा, जिसमें बिजनेस ओनर नामांकन शुल्क का भुगतान करके और उनके लिए उपलब्ध विभिन्न  सदस्यता योजनाओं में से एक को चुनकरइस आयोजन का हिस्सा बन सकते हैं। 25000 रुपये की किसी भी खरीदारी पर एक सुनिश्चित कूपन और सीमित संस्करण वाला चांदी का सिक्का दिया जायेगा।

विजेताओं को लगभग 35 करोड़ रुपये के आभूषण मिलेंगे। 5000 कूपन के प्रत्येक सेट पर 25 ग्राम सोने का सिक्का जैसे अन्य शानदार पुरस्कार भी हैं। अन्य उपहारों में 1-1 किलो सोने के 5 पुरस्कार, 10-10 लाख के कलाकृति से भरपूर आभूषण के 5 पुरस्कार, 10-10 लाख के मंदिर के आभूषण के 5 पुरस्कार, 5-5 लाख के हीरे और कीमती पत्थरों से जड़े आभूषण के 10 पुरस्कार, सोने के आभूषण के 10 पुरस्कार शामिल हैं। प्रत्येक का मूल्य 2.5 लाख और डिवाइन सॉलिटेयर्स की ओर से हीरे जड़ित सोने के 100 सिक्के पुरस्कार में शामिल हैं।

जीजेसी के निदेशक और आईजेएसएफ संयोजक श्री दिनेश जैन ने कहा कि “आईजेएसएफ 200 से अधिक शहरों से भाग लेने वाले 3000 खुदरा विक्रेताओं के माध्यम से 1,20,000 करोड़ रुपये का व्यवसाय उत्पन्न करने की उम्मीद कर रहा है। मोटे तौर पर लगभग 30-35% की व्यवसाय वृद्धि है। इस महोत्सव से आभूषण उद्योग में रोजगार के बड़े अवसर पैदा होने की भी उम्मीद है। हमारे माननीय प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदीजी द्वारा की गई डिजिटल इंडिया पहल को ध्यान में रखते हुए, विजेताओं की चयन प्रक्रिया में पारदर्शिता बनाए रखने के लिए IJSF को डिजिटल रूप से भी आयोजित किया जाएगा। बाहर रहने वाले 4 करोड़ एनआरआई भी रोमांचक ऑफर का लाभ उठा सकेंगे और आईजेएसएफ के दौरान आभूषणों की खरीदारी की योजना बना सकेंगे, जिससे भारत एक आभूषण पर्यटन केंद्र बन जाएगा।''

जीजेसी के अध्यक्ष श्री सैयाम मेहरा ने कहा कि, “आईजेएसएफ सभी आभूषण व्यापारियों के लिए एक संभावित मौका है। यह आयोजन उपभोक्ताओं और निर्माताओं दोनों के लिए फायदेमंद है। ज्वैलर्स के लिए बिक्री बढ़ने और बढ़ावा देने का मौका आ गया है। खरीदार इस बीच शानदार आभूषणों को खरीदते हैं और उन्हें शादियों और अन्य महत्वपूर्ण कार्यक्रमों के लिए रखते हैं। जेम एंड ज्वैलरी काउंसिल का अनुमान है कि इस आयोजन में संपूर्ण मूल्य श्रृंखला शामिल होगी, जो भारी आय क्षमता की गारंटी देती है। यह आयोजन व्यवसाय को प्रोत्साहित करता है और ग्राहकों को पुरस्कृत करता है। 

संयुक्त संयोजक श्री मनोज झा ने कहा कि, “अभी दो दिन पहले माननीय मंत्री नितिन गडकरी जी ने दिल्ली में IJSF के शुभारंभ की घोषणा की। आईजेएसएफ के लिए उनके समर्थन ने ज्वैलर्स समुदाय में बहुत उत्साह पैदा किया है और हम देश के कोने-कोने से लेकर अंडमान और निकोबार द्वीप समूह तक पंजीकरण देख रहे हैं। इस त्योहार से पूरे आभूषण उद्योग के साथ-साथ ग्राहकों को भी फायदा होगा। आईजेएसएफ आकर्षक ऑफर दे रहा है और ग्राहकों को पुरस्कार के रूप में 40 किलोग्राम तक सोना और साथ ही कई प्रकार के आभूषण जीतने का मौका दे रहा है। दिव्य सॉलिटेयर हीरे से जड़ित 3 करोड़ रुपये और 100 सोने के सिक्के दे रहा है। जैसा कि  हैं भारत स्वतंत्रता के 75 वर्ष मना रहा है,। जिसके लिए हम स्मारिका के रूप में 3000 किलोग्राम विशेष संस्करण अमृत महोत्सव चांदी के सिक्के, जो 25000/- रुपये की प्रत्येक खरीद पर ग्राहकों को उपहार के रूप में वितरित करेंगे। नियमित आधार पर 25 ग्राम सोना प्राप्त करने के अलावा 1 किलोग्राम सोना जीतना काफी रोमांचक है। पूरे त्योहारी सीजन में इस मार्केटिंग से इंडस्ट्री को फायदा होगा। हमने प्रक्रिया सलाहकार  के रूप में ईएंडवाई के साथ साझेदारी की है, जो पूर्ण पारदर्शिता सुनिश्चित करने के लिए पूरी प्रक्रिया की से डिजिटल रूप में निगरानी करेगा।

जीजेसी के निदेशक और आईजेएसएफ समिति के सदस्य, डॉ. रवि कपूर ने कहा, “आईजेएसएफ पारदर्शिता सुनिश्चित करने और ग्राहकों के मन में विश्वसनीयता बनाने के लिए सर्वोत्तम व्यावसायिक प्रथाओं का पालन करेगा। भारतीयों के लिए आभूषण सिर्फ अवसरों के लिए ही नहीं बल्कि निवेश और सुरक्षा के तौर पर भी खरीदे जाते हैं। आगामी इंडिया ज्वेलरी शॉपिंग फेस्टिवल ग्राहकों को ऑफर का लाभ उठाने और लंबे समय तक चलने वाले निवेश के लिए आभूषण खरीदने का अवसर देगा।

Comments

Popular posts from this blog

आत्मा अजर अमर है! मृत्यु के बाद का जीवन आनन्द एवं हर्षदायी होता है!

-आध्यात्मिक लेख  आत्मा अजर अमर है! मृत्यु के बाद का जीवन आनन्द एवं हर्षदायी होता है! (1) मृत्यु के बाद शरीर मिट्टी में तथा आत्मा ईश्वरीय लोक में चली जाती है :विश्व के सभी महान धर्म हिन्दू, बौद्ध, ईसाई, मुस्लिम, जैन, पारसी, सिख, बहाई हमें बताते हैं कि आत्मा और शरीर में एक अत्यन्त विशेष सम्बन्ध होता है इन दोनों के मिलने से ही मानव की संरचना होती है। आत्मा और शरीर का यह सम्बन्ध केवल एक नाशवान जीवन की अवधि तक ही सीमित रहता है। जब यह समाप्त हो जाता है तो दोनों अपने-अपने उद्गम स्थान को वापस चले जाते हैं, शरीर मिट्टी में मिल जाता है और आत्मा ईश्वर के आध्यात्मिक लोक में। आत्मा आध्यात्मिक लोक से निकली हुई, ईश्वर की छवि से सृजित होकर दिव्य गुणों और स्वर्गिक विशेषताओं को धारण करने की क्षमता लिए हुए शरीर से अलग होने के बाद शाश्वत रूप से प्रगति की ओर बढ़ती रहती है। (2) सृजनहार से पुनर्मिलन दुःख या डर का नहीं वरन् आनन्द के क्षण है : (2) सृजनहार से पुनर्मिलन दुःख या डर का नहीं वरन् आनन्द के क्षण है :हम आत्मा को एक पक्षी के रूप में तथा मानव शरीर को एक पिजड़े के समान मान सकते है। इस संसार में रहते हुए

लखनऊ में स्मारक समिति कर्मचारियों का जोरदार प्रदर्शन

लखनऊ में स्मारक समिति कर्मचारियों का जोरदार प्रदर्शन स्मारक कर्मचारियों ने किया कार्य बहिष्कार कर्मचारियों ने विधानसभा घेराव का किया ऐलान जानिए किन मांगों को लेकर चल रहा है प्रदर्शन लखनऊ 2 जनवरी 2024 लखनऊ में स्मारक समिति कर्मचारियों का जोरदार प्रदर्शन स्मारक कर्मचारियों ने किया कार्य बहिष्कार और कर्मचारियों ने विधानसभा घेराव का भी है किया ऐलान इनकी मांगे इस प्रकार है पुनरीक्षित वेतनमान-5200 से 20200 ग्रेड पे- 1800 2- स्थायीकरण व पदोन्नति (ए.सी.पी. का लाभ), सा वेतन चिकित्सा अवकाश, मृत आश्रित परिवार को सेवा का लाभ।, सी.पी. एफ, खाता खोलना।,  दीपावली बोनस ।

भगवान चित्रगुप्त व्रत कथा पुस्तक का भव्य विमोचन

भगवान चित्रगुप्त व्रत कथा पुस्तक का भव्य विमोचन लखनऊ, जुलाई 2023, अयोध्या के श्री धर्महरि चित्रगुप्त मंदिर में भगवान चित्रगुप्त व्रत कथा पुस्तक का भव्य विमोचन  किया गया। बलदाऊजी द्वारा संकलित तथा सावी पब्लिकेशन लखनऊ द्वारा प्रकाशित इस पुस्तक का विमोचन संत शिरोमणी श्री रमेश भाई शुक्ल द्वारा किया गया जिसमे आदरणीय वेद के शोधक श्री जगदानंद झा  जी भी उपस्थित रहै उन्होने चित्रगुप्त भगवान् पर व्यापक चर्चा की।  इस  अवसर पर कई संस्था प्रमुखो ने श्री बलदाऊ जी श्रीवास्तव को शाल पहना कर सम्मानित किया जिसमे जेo बीo चित्रगुप्त मंदिर ट्रस्ट,  के अध्यक्ष श्री दीपक कुमार श्रीवास्तव, महामंत्री अमित श्रीवास्तव कोषाध्यक्ष अनूप श्रीवास्तव ,कयस्थ संध अन्तर्राष्ट्रीय के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिनेश खरे, अ.भा.का.म के प्रदेश अध्यक्ष श्री उमेश कुमार जी एवं चित्रांश महासभा के कार्वाहक अध्यक्ष श्री संजीव वर्मा जी के अतिरिक्त अयोध्या नगर के कई सभासद भी सम्मान मे उपस्थित रहे।  कार्यक्रम की अध्यक्षता संस्था के अध्यक्ष दीपक श्रीवास्तव जी ने की एवं समापन महिला अध्यक्ष श्री मती प्रमिला श्रीवास्तव द्वारा किया गया। कार्यक्रम