Skip to main content

द हाउस ऑफ अभिनंदन लोढ़ा ने अयोध्या में किया 1200 करोड़ रुपए का निवेश

द हाउस ऑफ अभिनंदन लोढ़ा ने अयोध्या में किया 1200 करोड़ रुपए का निवेश

  • भारत के सबसे बड़े ब्रांडेड भूमि डेवलपर 'द हाउस ऑफ अभिनंदन लोढ़ा' ने नए ऑफिस के उद्घाटन के साथ ही शहर में व्यवसाय संचालन की नींव भी रखी है 

अयोध्या, उत्तर प्रदेश: द हाउस ऑफ अभिनंदन लोढ़ा (HoABL) ने अयोध्या के विकास के प्रति प्रतिबद्धता की एक शानदार मिसाल की पेशकश करते हुए, 1,200 करोड़ रुपए के बड़े निवेश की घोषणा की है, जो कि पूरी तरह से शहर को समर्पित है। निवेश का यह निर्णय अयोध्या को वैश्विक आध्यात्मिक राजधानी के रूप में स्थापित करने के सरकार के दृष्टिकोण के अनुरूप है, जिसे फरवरी 2023 में आयोजित यूपी निवेशक शिखर सम्मेलन के दौरान उजागर किया गया था। द हाउस ऑफ अभिनंदन लोढ़ा का नेतृत्व इसके सीईओ, श्री समुज्ज्वल घोष और लोढ़ा वेंचर्स के मैनेजिंग डायरेक्टर, श्री अभिनंदन लोढ़ा द्वारा किया जा रहा है, जो विगत एक वर्ष से भी अधिक समय से व्यापक फील्डवर्क में लगे हुए हैं और शीघ्र ही अपना उद्घाटन प्रोजेक्ट शुरू करने के लिए तत्पर हैं।

अयोध्या में इस नए ऑफिस का उद्घाटन द हाउस ऑफ अभिनंदन लोढ़ा की प्रतिबद्धता और सफलता की जीती-जागती मिसाल है। अयोध्या में भारी निवेश करने का यह निर्णय शहर के विकास और समृद्धि के प्रति कंपनी की अटूट समर्पण भावना को दर्शाता है। हाल ही में स्थापित किया गया यह नया ऑफिस न सिर्फ कंपनी की प्रतिबद्धता के प्रमाण के रूप में, बल्कि पूरे क्षेत्र में इसके संचालन के लिए सुदृढ़ आधार के रूप में काम करेगा।

इस निवेश और अयोध्या के भविष्य के लिए अपना अटूट उत्साह व्यक्त करते हुए, श्री समुज्ज्वल घोष, सीईओ- द हाउस ऑफ अभिनंदन लोढ़ा, ने कहा, "अयोध्या में 1,200 करोड़ रुपए के निवेश की हमारी प्रतिबद्धता, न सिर्फ इस क्षेत्र की वृद्धि, बल्कि इसके विकास के प्रति हमारे समर्पण भाव को बखूबी दर्शाती है। इस ऐतिहासिक शहर में हमारे नए ऑफिस का उद्घाटन, प्रगति और समृद्धि को बढ़ावा देने के लिए हमारी अटूट प्रतिबद्धता का प्रमाण है। यह न सिर्फ हमारे संचालन के लिए एक सुदृढ़ आधार के रूप में काम करेगा, बल्कि अयोध्या की विशाल क्षमता में हमारे गहन विश्वास का प्रतीक भी होगा। द हाउस ऑफ अभिनंदन लोढ़ा के रूप में हमारा लक्ष्य आर्थिक अवसरों को बढ़ावा देना, स्थानीय समुदायों को सशक्त बनाना और इस शहर के ऐतिहासिक परिवर्तन में योगदान देना है।"

अयोध्या में व्यावसायिक परिचालन शुरू होने पर अपनी बात रखते हुए, श्री संजीव एस रल्हन, सीएसओ- द हाउस ऑफ अभिनंदन लोढ़ा, ने कहा, "अयोध्या की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत और सरकार के दूरदर्शी प्रयासों के साथ, अयोध्या शहर बड़ी संख्या में पर्यटकों और आगंतुकों को आकर्षित और मंत्रमुग्ध करने के लिए तैयार है। अयोध्या में 1,200 करोड़ रुपए का हमारा यह निवेश इस विकास को बढ़ावा देने और शहर के विकास में योगदान करने के लिए एक रणनीतिक कदम है। हम अपनी इनोवेटिव प्रोजेक्ट्स की पेशकश करने को लेकर बेहद उत्साहित हैं। ये प्रोजेक्ट्स स्थानीय समुदाय और वैश्विक ग्राहकों दोनों की बढ़ती जरूरतों को पूरा करने वाले असाधारण रेसिडेंशियल और कमर्शियल स्पेसेस प्रदान करेगा। अयोध्या का वैश्विक आध्यात्मिक राजधानी में परिवर्तन, सफलता के नए मार्ग खोलेगा, और हम इस रोमांचक यात्रा में सबसे आगे रहने के लिए उत्सुक हैं।"

अयोध्या में इस नए ऑफिस के उद्घाटन में विभिन्न सम्मानित अतिथि और गणमान्य लोग उपस्थित रहे। इस अवसर पर श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र अयोध्या के महासचिव श्री चंपत राय और अयोध्या के मेयर श्री गिरीशपति त्रिपाठी मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद रहे। इसके साथ ही, इस कार्यक्रम में मंडलायुक्त और अयोध्या विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री गौरव दयाल, अयोध्या के जिला मजिस्ट्रेट श्री नीतीश कुमार, अयोध्या विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष और नगर निगम अयोध्या के आयुक्त श्री विशाल सिंह और कई अन्य दिग्गज हस्तियाँ भी मौजूद रहीं।

इस निवेश पर अपनी सराहना व्यक्त करते हुए, श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र अयोध्या के महासचिव श्री चंपत राय ने कहा, "अयोध्या के विकास के लिए द हाउस ऑफ अभिनंदन लोढ़ा की यह महत्वपूर्ण प्रतिबद्धता हमारे लिए काफी खुशी की बात है। उनकी स्वीकार्यता और समर्पण, वैश्विक आध्यात्मिक राजधानी के रूप में हमारे शहर की अपार क्षमता का प्रमाण है। इसमें कोई संदेह नहीं है कि यह निवेश अयोध्या के विकास और परिवर्तन में विशेष योगदान देगा, जिससे वैश्विक पटल पर इसके महत्व को और अभी अधिक मजबूती मिलेगी।"

अयोध्या के महापौर श्री गिरीशपति त्रिपाठी ने अयोध्या में एक सुदृढ़ उपस्थिति स्थापित करने के द हाउस ऑफ अभिनंदन लोढ़ा (HoABL) के निर्णय की सराहना की। उन्होंने कहा, "अयोध्या की विश्व स्तरीय आध्यात्मिक और सांस्कृतिक गंतव्य स्थापित करने की यात्रा के लिए द हाउस ऑफ अभिनंदन लोढ़ा जैसे दूरदर्शी भागीदारों के साथ सहयोग बेहद सराहनीय है और साथ ही ऐसे भागीदारों की हमें बेहद जरुरत है। उनका पर्याप्त निवेश अयोध्या के विकास और विस्तार के लिए एक साझा दृष्टिकोण को दर्शाता है। हम उनका तहे दिल से स्वागत करते हैं और आशा करते हैं कि यह साझेदारी हमारे शहर पर सकारात्मक प्रभाव डालेगी।"

डिविज़नल कमिश्नर और अयोध्या विकास प्राधिकरण के चेयरमैन श्री गौरव दयाल ने अपने उत्साह को व्यक्त किया और अयोध्या में इस निवेश से होने वाले संभावित प्रभाव के बारे में बात की। उन्होंने कहा, "द हाउस ऑफ अभिनंदन लोढ़ा का अयोध्या में 1200 करोड़ रुपए का निवेश करने का समर्थन, शहर के विकास के लिए एक महत्वपूर्ण बात है। यह साझेदारी वैश्विक आध्यात्मिक राजधानी के रूप में अयोध्या की संभावित क्षमता में गहन विश्वास को प्रतिबिंबित करती है। उनके विशेषज्ञता और निवेश के साथ, हम आश्वासन देते हैं कि अयोध्या में विकास होगा और यह एक विश्व-स्तरीय स्थान बनेगा।"

अयोध्या विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष और नगर निगम अयोध्या के आयुक्त श्री विशाल सिंह, ने श्री दयाल के विचारों को प्रतिध्वनित करते हुए आगे कहा, "द हाउस ऑफ अभिनंदन लोढ़ा का निवेश, चल रहे इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स और अयोध्या के लिए सरकार के दृष्टिकोण के साथ पूरी तरह से मेल खाता है। हम मिलकर एक जीवंत और समावेशी शहर की स्थापना कर सकते हैं, जो निवासियों और पर्यटकों को एक विश्व-स्तरीय अनुभव प्रदान करता है। यह निवेश निस्संदेह अयोध्या के विकास को तेजी से बढ़ाएगा और इसे वैश्विक स्तर पर महत्वपूर्ण बनाएगा।"

द हाउस ऑफ अभिनंदन लोढ़ा का निवेश उचित समय पर हुआ है, क्योंकि इसके साथ-साथ राम मंदिर के उद्घाटन के बाद पर्यटन में बड़ी वृद्धि की उम्मीद है। यह निवेश आगामी वर्ष जनवरी तक होने वाले पर्यटन के आगमन में मदद करेगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश कैबिनेट ने हाल ही में 465 करोड़ रुपए के प्रोजेक्ट्स को मंजूरी दी है, जिनका उद्घाटन अयोध्या में विश्व-स्तरीय इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास के लिए किया जाएगा। इन प्रोजेक्ट्स में 2 किलोमीटर लंबी 'धर्म पथ' सड़क का विस्तार और सौंदर्यीकरण, पर्यटक सुविधाओं और आराम करने की जगहों का विकास, साथ ही पंचकोशी परिक्रमा मार्ग और 14 कोसी परिक्रमा मार्ग का विस्तार शामिल है। इसके अलावा, अयोध्या हवाई अड्डे का निर्माण कार्य सितंबर 2023 तक पूरा होने की उम्मीद है, जिससे क्षेत्र की पहुँच और संचार सुविधाएँ और भी बेहतर होंगी।

द हाउस ऑफ अभिनंदन लोढ़ा का निवेश, सरकार के दृष्टिकोणपूर्ण प्रयासों और चल रहे इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स के साथ मिलकर, अयोध्या को निकट भविष्य में एक प्रमुख वैश्विक आध्यात्मिक राजधानी के रूप में स्थापित करने के लिए तत्पर है। कंपनी का शहर के विकास के प्रति समर्पण उसके विश्वास को प्रतिबिंबित करता है, जो यह दर्शाता है कि शहर में सकारात्मक आर्थिक और सांस्कृतिक केंद्र के रूप में गहन क्षमता निहित है। 

द हाउस ऑफ अभिनंदन लोढ़ा के अयोध्या में अपने महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट्स की तरफ कदम बढ़ाने के रूप में शहर को इस निवेश के सकारात्मक प्रभाव, विकास और वैश्विक मानसिकता की पूर्ति होने की उम्मीद है।

Comments

Popular posts from this blog

आत्मा अजर अमर है! मृत्यु के बाद का जीवन आनन्द एवं हर्षदायी होता है!

-आध्यात्मिक लेख  आत्मा अजर अमर है! मृत्यु के बाद का जीवन आनन्द एवं हर्षदायी होता है! (1) मृत्यु के बाद शरीर मिट्टी में तथा आत्मा ईश्वरीय लोक में चली जाती है :विश्व के सभी महान धर्म हिन्दू, बौद्ध, ईसाई, मुस्लिम, जैन, पारसी, सिख, बहाई हमें बताते हैं कि आत्मा और शरीर में एक अत्यन्त विशेष सम्बन्ध होता है इन दोनों के मिलने से ही मानव की संरचना होती है। आत्मा और शरीर का यह सम्बन्ध केवल एक नाशवान जीवन की अवधि तक ही सीमित रहता है। जब यह समाप्त हो जाता है तो दोनों अपने-अपने उद्गम स्थान को वापस चले जाते हैं, शरीर मिट्टी में मिल जाता है और आत्मा ईश्वर के आध्यात्मिक लोक में। आत्मा आध्यात्मिक लोक से निकली हुई, ईश्वर की छवि से सृजित होकर दिव्य गुणों और स्वर्गिक विशेषताओं को धारण करने की क्षमता लिए हुए शरीर से अलग होने के बाद शाश्वत रूप से प्रगति की ओर बढ़ती रहती है। (2) सृजनहार से पुनर्मिलन दुःख या डर का नहीं वरन् आनन्द के क्षण है : (2) सृजनहार से पुनर्मिलन दुःख या डर का नहीं वरन् आनन्द के क्षण है :हम आत्मा को एक पक्षी के रूप में तथा मानव शरीर को एक पिजड़े के समान मान सकते है। इस संसार में रहते हुए

लखनऊ में स्मारक समिति कर्मचारियों का जोरदार प्रदर्शन

लखनऊ में स्मारक समिति कर्मचारियों का जोरदार प्रदर्शन स्मारक कर्मचारियों ने किया कार्य बहिष्कार कर्मचारियों ने विधानसभा घेराव का किया ऐलान जानिए किन मांगों को लेकर चल रहा है प्रदर्शन लखनऊ 2 जनवरी 2024 लखनऊ में स्मारक समिति कर्मचारियों का जोरदार प्रदर्शन स्मारक कर्मचारियों ने किया कार्य बहिष्कार और कर्मचारियों ने विधानसभा घेराव का भी है किया ऐलान इनकी मांगे इस प्रकार है पुनरीक्षित वेतनमान-5200 से 20200 ग्रेड पे- 1800 2- स्थायीकरण व पदोन्नति (ए.सी.पी. का लाभ), सा वेतन चिकित्सा अवकाश, मृत आश्रित परिवार को सेवा का लाभ।, सी.पी. एफ, खाता खोलना।,  दीपावली बोनस ।

भगवान चित्रगुप्त व्रत कथा पुस्तक का भव्य विमोचन

भगवान चित्रगुप्त व्रत कथा पुस्तक का भव्य विमोचन लखनऊ, जुलाई 2023, अयोध्या के श्री धर्महरि चित्रगुप्त मंदिर में भगवान चित्रगुप्त व्रत कथा पुस्तक का भव्य विमोचन  किया गया। बलदाऊजी द्वारा संकलित तथा सावी पब्लिकेशन लखनऊ द्वारा प्रकाशित इस पुस्तक का विमोचन संत शिरोमणी श्री रमेश भाई शुक्ल द्वारा किया गया जिसमे आदरणीय वेद के शोधक श्री जगदानंद झा  जी भी उपस्थित रहै उन्होने चित्रगुप्त भगवान् पर व्यापक चर्चा की।  इस  अवसर पर कई संस्था प्रमुखो ने श्री बलदाऊ जी श्रीवास्तव को शाल पहना कर सम्मानित किया जिसमे जेo बीo चित्रगुप्त मंदिर ट्रस्ट,  के अध्यक्ष श्री दीपक कुमार श्रीवास्तव, महामंत्री अमित श्रीवास्तव कोषाध्यक्ष अनूप श्रीवास्तव ,कयस्थ संध अन्तर्राष्ट्रीय के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिनेश खरे, अ.भा.का.म के प्रदेश अध्यक्ष श्री उमेश कुमार जी एवं चित्रांश महासभा के कार्वाहक अध्यक्ष श्री संजीव वर्मा जी के अतिरिक्त अयोध्या नगर के कई सभासद भी सम्मान मे उपस्थित रहे।  कार्यक्रम की अध्यक्षता संस्था के अध्यक्ष दीपक श्रीवास्तव जी ने की एवं समापन महिला अध्यक्ष श्री मती प्रमिला श्रीवास्तव द्वारा किया गया। कार्यक्रम