Skip to main content

पेनियरबाय ने उत्तर प्रदेश के छोटे रिटेलर के सपनों में रंग भरने के लिए बनाया एक खास क्लब ‘इंद्रधनुष’

पेनियरबाय ने उत्तर प्रदेश के छोटे रिटेलर के सपनों में रंग भरने के लिए बनाया एक खास क्लब ‘इंद्रधनुष’

लखनऊ, अगस्त, 2022: भारत के विकास की कहानी में अपने रिटेलरों के बेजोड़ योगदान को सामने लाने के लिए भारत के लीडिंग ब्रान्च्लेस बैंकिंग और डिजिटल नेटवर्क पेनियरबाय ने लॉन्च किया है एक अनोखा क्लब - इंद्रधनुष। अपनी तरह का एक खास क्लब, उन छोटे रिटेलर्स के लिए, जो अंतिम छोर पर सामाजिक परिवर्तन ला रहे हैं। क्लब ‘इंद्रधनुष’ किराना स्टोर मालिकों और मोबाइल रिचार्ज स्टोर जैसे छोटे रिटेलर्स के प्रयासों को बढ़ावा  देता है, जिन्होंने स्थानीय निवासियों के लिए दुर्गम बैंकिंग और गैर-बैंकिंग सेवाओं को आसान बनाया है। इंद्रधनुष का लक्ष्य वित्त वर्ष 2023-24 के अंत तक 10,000 आउटपरफॉर्मिंग रिटेलर्स को अपने साथ जोड़ना हैं। क्लब की सदस्यता के साथ रिटेलर्स को मिलेंगे कई विशेषाधिकार, साथ ही खास उनके लिए तैयार सर्विसिंग, जिसमें सर्विस सेंटर में प्राथमिकता डेस्क भी शामिल हैं। इसके अलावा, कुछ चुनिंदा लोग अपने क्षेत्रों में ब्रांड का चेहरा होंगे। वे किसी रोले मॉडल से कम नहीं होंगे क्योंकि देश में अधिक से अधिक किराना स्टोर उनकी सफलता की कहानियों से प्रेरित होंगे और इस विशाल ताकत का एहसास करेंगे कि उन्हें अपने परिवार के भविष्य को सुरक्षित करते हुए चेंजमेकर बनना है। इसके साथ, कंपनी भारत को विकास और समावेश के अगले स्तर पर ले जाने के लिए नए एजेंटों को आंदोलन में अपने साथ जोड़ना हैं  होने के लिए प्रेरित और प्रभावित करना चाहती है। पहले चरण में, इंद्रधनुष क्लब उत्तर प्रदेश के 25 से अधिक पथप्रदर्शक छोटे रिटेलर्स को सम्मानित करेगा, जो देश भर के 250 से अधिक लास्ट माइल चैंपियन हैं, जो अपने क्षेत्र के उत्थान को सुनिश्चित करने, सकारात्मक और सामाजिक प्रभाव पैदा करने के लिए कई बाधाओं से ऊपर उठे हैं। यह इन रिटेलर का साहस और मजबूती है जो भारत को औपचारिक वित्तीय समावेशन (फाइनेंसियल इन्क्लूज़न) में लाने और एक समान आर्थिक विकास में योगदान करने की पेनियरबाय की प्रतिबद्धता को आगे बढ़ा रही है। इसके साथ, कंपनी भारत को विकास और समावेश के अगले स्तर पर ले जाने के लिए नए एजेंटों को आंदोलन में अपने साथ जुड़ने के लिए प्रेरित और प्रभावित करना चाहती है।पेनियरबाय के क्लब इंद्रधनुष का निर्माण लास्ट माइल के पायनियर्स को पहचानने, उन्हें अपने जीवन बदलने वाले कार्य को जारी रखने के लिए प्रेरित करने सहित पूरे भारत में सतत विकास के लिए उनकी सर्वोत्तम प्रथाओं को दोहराने के लिए किया गया है। यह उन छोटे रिटेलर्स को पहचान और सम्मान देता है जो भारत को एक प्रगतिशील राष्ट्र बनाने के लिए अपने क्षमता से बढकऱ काम कर रहे हैं। वे यह सुनिश्चित करते हैं कि सभी बुनियादी सेवाएं पास के एक रिटेल स्टोर पर सभी के लिए उपलब्ध हों।ये छोटे रिटेलर हमारे हीरो हैं जो नकद निकासी, पेंशन, आधार बैंकिंग, बिल भुगतान और रिचार्ज, बचत, यात्रा, डिजिटल भुगतान, बीमा, जैसी सेवाओं को सक्षम करते हुए अपने स्टोर से अपने क्षेत्रों में स्केलेबल और टिकाऊ सामाजिक परिवर्तन लाकर नए उदाहरण पेश कर रहे हैं। अब, कोई भी बैंक या एटीएम तक पहुंचने के लिए लंबी दूरी की यात्रा करने के बिना हरदोई या बिजनौर या गोरखपुर या सोनभद्र और अन्य के दूरदराज के इलाकों में पड़ोस की दुकान पर आवश्यक बैंकिंग सेवाओं का लाभ उठा सकता है। वर्तमान में, यूपी में 95,600 से अधिक रिटेलर हैं, जिनमें से 25 से ज्यादा ने अपने समाज को अधिक समृद्ध बनाने में अपने प्रभावशाली योगदान के साथ इंद्रधनुष क्लब में जगह बनाई है। इंद्रधनुष के लॉन्च पर बोलते हुए पेनियरबाय के संस्थापक, एमडी और सीईओ आनंद कुमार बजाज ने कहा, “एक समावेशी समाज और एक मजबूत राष्ट्र बनाने के हमारे मिशन में, छोटे रिटेलर्स को सशक्त बनाना हमारा निरंतर प्रयास रहा है। हमारे रिटेलर वे हैं जो स्थानीय समुदायों को परिभाषित और आकार दे रहे हैं और इस देश के आर्थिक ताने-बाने में एक मज़बूत जोड़ का काम कर रहे हैं । संकट के समय में, वे वो अग्रिम पंक्ति के योद्धा हैं जो हमेशा नागरिकों की एक पुकार पर आ खड़े होते हैं। इंद्रधनुष इन नायकों के लिए धन्यवाद का एक छोटा सा प्रयास है इन पैदल सैनिकों जो अंतिम मील पर सभी के वित्तीय व्यवहार में परिवर्तन को प्रेरित कर रहे हैं।

Comments

Popular posts from this blog

आत्मा अजर अमर है! मृत्यु के बाद का जीवन आनन्द एवं हर्षदायी होता है!

-आध्यात्मिक लेख  आत्मा अजर अमर है! मृत्यु के बाद का जीवन आनन्द एवं हर्षदायी होता है! (1) मृत्यु के बाद शरीर मिट्टी में तथा आत्मा ईश्वरीय लोक में चली जाती है :विश्व के सभी महान धर्म हिन्दू, बौद्ध, ईसाई, मुस्लिम, जैन, पारसी, सिख, बहाई हमें बताते हैं कि आत्मा और शरीर में एक अत्यन्त विशेष सम्बन्ध होता है इन दोनों के मिलने से ही मानव की संरचना होती है। आत्मा और शरीर का यह सम्बन्ध केवल एक नाशवान जीवन की अवधि तक ही सीमित रहता है। जब यह समाप्त हो जाता है तो दोनों अपने-अपने उद्गम स्थान को वापस चले जाते हैं, शरीर मिट्टी में मिल जाता है और आत्मा ईश्वर के आध्यात्मिक लोक में। आत्मा आध्यात्मिक लोक से निकली हुई, ईश्वर की छवि से सृजित होकर दिव्य गुणों और स्वर्गिक विशेषताओं को धारण करने की क्षमता लिए हुए शरीर से अलग होने के बाद शाश्वत रूप से प्रगति की ओर बढ़ती रहती है। (2) सृजनहार से पुनर्मिलन दुःख या डर का नहीं वरन् आनन्द के क्षण है : (2) सृजनहार से पुनर्मिलन दुःख या डर का नहीं वरन् आनन्द के क्षण है :हम आत्मा को एक पक्षी के रूप में तथा मानव शरीर को एक पिजड़े के समान मान सकते है। इस संसार में रहते हुए

भगवान चित्रगुप्त व्रत कथा पुस्तक का भव्य विमोचन

भगवान चित्रगुप्त व्रत कथा पुस्तक का भव्य विमोचन लखनऊ, जुलाई 2023, अयोध्या के श्री धर्महरि चित्रगुप्त मंदिर में भगवान चित्रगुप्त व्रत कथा पुस्तक का भव्य विमोचन  किया गया। बलदाऊजी द्वारा संकलित तथा सावी पब्लिकेशन लखनऊ द्वारा प्रकाशित इस पुस्तक का विमोचन संत शिरोमणी श्री रमेश भाई शुक्ल द्वारा किया गया जिसमे आदरणीय वेद के शोधक श्री जगदानंद झा  जी भी उपस्थित रहै उन्होने चित्रगुप्त भगवान् पर व्यापक चर्चा की।  इस  अवसर पर कई संस्था प्रमुखो ने श्री बलदाऊ जी श्रीवास्तव को शाल पहना कर सम्मानित किया जिसमे जेo बीo चित्रगुप्त मंदिर ट्रस्ट,  के अध्यक्ष श्री दीपक कुमार श्रीवास्तव, महामंत्री अमित श्रीवास्तव कोषाध्यक्ष अनूप श्रीवास्तव ,कयस्थ संध अन्तर्राष्ट्रीय के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिनेश खरे, अ.भा.का.म के प्रदेश अध्यक्ष श्री उमेश कुमार जी एवं चित्रांश महासभा के कार्वाहक अध्यक्ष श्री संजीव वर्मा जी के अतिरिक्त अयोध्या नगर के कई सभासद भी सम्मान मे उपस्थित रहे।  कार्यक्रम की अध्यक्षता संस्था के अध्यक्ष दीपक श्रीवास्तव जी ने की एवं समापन महिला अध्यक्ष श्री मती प्रमिला श्रीवास्तव द्वारा किया गया। कार्यक्रम

गन्ने वाली गली बाज़ार (अमीनाबाद ) व्यापार मंडल का हुवा गठन

गन्ने वाली गली बाज़ार (अमीनाबाद ) व्यापार मंडल का हुवा गठन आज लखनऊ युवा व्यापार मंडल नगर अध्यक्ष मनीष गुप्ता एवं महामंत्री प्रियांक गुप्ता द्वारा लखनऊ अमीनाबाद स्थित प्राचीन  गन्ने वाली गली बाजार  व्यापार मंडल का गठन किया गया। समस्त व्यापारीयो ने एक जुट हो गन्ने वाली गली व्यापार मंडल के अध्यक्ष के रूप मे मोहित केसवानी, महामंत्री पद पर अंकुर गुप्ता, एवं कोषाध्यक्ष विजय त्रिपाठी तथा वरिष्ठ उपाध्यक्ष मोहम्मद तौहीद, उपाध्यक्ष मोहम्मद जलील, इरशाद एवं संगठन मंत्री पद पर सौरभ सोनकर,सनी जयसवाल, एवं मंत्री पद पर मो राजू, अमित अग्रवाल,सर्वेश साहू सक्रिय सदस्य के रूप मे मोहम्मद सलमान,शदाब,चन्दन, अभिनव गुप्ता, रिशु सोनकर,सौरना सोनकर,अंकित सोनकर का चयन किया। स्थानीय कारोबारियों के अनुसार साठ के दशक मे गन्ने वाली गली मे गन्ने  की बड़ी बाज़ार लगती थी दूर दूर से गन्ना व्यापारी गन्ने की खरीद फरोक्त करने यहा आते थे। तभी से इसका नाम गन्ने वाली गली पड़ा। वर्तमान मे कॉस्मेटिक, चूड़ी, गिफ्ट, अकोरियम, सीसा, जर्नल स्टोर की होलनसेल दुकाने है।  नगर युवा अध्यक्ष मनीष गुप्ता ने सभी नवनियुक्त पदाधिकारियों को व्यापार मं