किसानों के संघर्ष व दर्द की कहनी है फिल्म 'गोदाम' : सुजीत प्रताप

किसानों के संघर्ष व दर्द की कहनी है फिल्म 'गोदाम' : सुजीत प्रताप

  • - 17 दिसम्बर को अखिल भारतीय स्तर पर होगी प्रदर्शित 

लखनऊ, 10 दिसम्बर 2021। किसानों के बहुत से मुद्दों को फिल्म निर्माता समय—समय पर उठाते रहे हैं। ऐसे ही ग़ाज़ीपुर के सुजीत प्रताप सिंह ने किसानों पर आधारित फिल्म गोदाम का निर्माण किया है, जो अखिल भारतीय स्तर पर आगामी 17 दिसम्बर को प्रदर्शित होगी। इस बात की जानकारी फिल्म के निर्माता सुजीत प्रताप सिंह ने आज राजधानी मे पत्रकारों को दी।

उन्होनें बताया की सार्थक सिनेमा के बैनर तले बनी फिल्म गोदाम मे मास्टर ऋत्विक प्रताप सिंह, अखिल गौरव सिंह, विपिन पाणिग्रही, माया जायसवाल, अक्सर इलाहाबादी, सनी उपाध्याय, शायना खान, अरुण शुक्ला, हुमा कमाल, सुजीत प्रताप सहित अन्य अभिनेता फिल्म में नजर आएंगे। उन्होनें बताया की फिल्म का निर्देशन अखिल गौरव सिंह और अक्सर इलाहाबादी ने किया है। हीरोइन का किरदार एस बबली ने निभाया है।

फिल्म गोदाम मे मुख्य भूमिका निभा रहे सुजीत प्रताप सिंह ने बताया कि वह स्वयं किसानों के परिवार से ताल्लुक रखते हैं, इसलिए किसानों का दर्द और संघर्ष जानते हैं। उन्होंने इस स्थिति का सामना किया है। इसलिए यह विषय उनके दिल के बहुत करीब है। उन्होंने एक किसान के संघर्षपूर्ण जीवन को बड़े पर्दे पर लाने की कोशिश की है। 

उन्होने बताया की फिल्म गोदाम किसानों के दर्द और संघर्ष को दर्शायेगी। सुजीत ने फिल्म की कहानी के बारें में बताया कि यह एक छोटे किसान के इर्द-गिर्द घूमती है, जो आर्थिक रूप से कमजोर होने के बावजूद खुश और संतुष्ट है। उसे पड़ोस की एक लड़की ‘हल्दी’ से प्यार हो जाता है। लेकिन उसके पिता उसकी आर्थिक स्थिति के कारण इससे खुश नहीं हैं। लड़की का पिता लड़के पर एक शर्त रखता है कि अगर वह उसकी मांग पूरी करता है तो वह उन्हें शादी करने की अनुमति देगा। इसी बीच एक सरकारी अधिकारी गांव के घटनाक्रम का निरीक्षण करने पहुंचता है। कहानी धीरे-धीरे गांव के विकास के पीछे की सच्चाई को उजागर करती है और लव बर्ड्स को उनकी लव लाइफ कैसे मिलती है। यह फिल्म 17 दिसंबर को सिनेमा हॉल में रिलीज होने जा रही है।

Comments

Popular posts from this blog

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के नगर कार्यालय पर चुनाव का बिगुल बजा

लोकतंत्र का चौथा स्तम्भ पत्रकारिता जगत