Skip to main content

सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन प्रस्तुत करता है ‘कामना-होगा ख्वाहिशों और उसूलों का आमना सामना’

  • एक्टर्स अभिषेक रावत और चांदनी शर्मा अपने शो के बारे में बात करने और लखनऊ की समृद्ध संस्कृति का अनुभव करने पहुंचे नवाबों के शहर 

लखनऊ, 24 नवंबर, 2021। भारतीय समाज में बड़ी शिद्दत के साथ यह बात मानी जाती है कि जितनी लंबी चादर उतने लंबे पैर। आसान शब्दों में कहें तो अपनी क्षमता के अनुसार जिंदगी जीना। लेकिन क्या आपको एक आलीशान जिंदगी जीने की चाहत नहीं करनी चाहिए? क्या मिडिल क्लास के संस्कारों और कभी खत्म ना होने वाली इच्छाओं के बीच एक सही संतुलन बना पाना मुमकिन है? मध्यमवर्ग की इसी दुविधा, जिसमें समाज की ऊंच-नीच के कारण बहुत-से सपने कैद होकर रह जाते हैं, को बखूबी दर्शाता है सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन का शो कामना - होगा ख्वाहिशों और उसूलों का आमना सामना। शो की शुरुआत के एक हफ्ते में ही जिंदगी की झलक दिखाता यह ड्रामा अपनी दिलचस्प कहानी के साथ दर्शकों का दिल जीत रहा है। यह शो दर्शकों को एक मध्यमवर्गीय दंपति - मानव और आकांक्षा के सफर पर ले जाता है, जिनकी सोच एक दूसरे से बिल्कुल अलग हैं।

इस शो की दिलचस्प कहानी की झलक दिखाने के लिए एक्टर्स चांदनी शर्मा (आकांक्षा) और अभिषेक रावत (मानव) आज नवाबों के शहर लखनऊ पहुंचे, जहां उन्होंने इस शो के कॉन्सेप्ट के बारे में बताया और इस शहर की समृद्ध संस्कृति का अनुभव किया। कॉकक्रो एंड शाइका एंटरटेनमेंट द्वारा प्रोड्यूस किए गए इस शो का प्रसारण हर सोमवार से शुक्रवार रात 8:30 बजे, सिर्फ सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन पर किया जा रहा है।

कामना, बाजपाई परिवार के इर्द-गिर्द घूमता है जो किसी भी अन्य मध्यमवर्गीय भारतीय परिवार की तरह ही है। मानव एक ईमानदार सरकारी अधिकारी है और एक प्यार करने वाला पारिवारिक पुरुष है। वो अपने सिद्धांतों पर एक ईमानदार जिंदगी जीने में यकीन रखता है। दूसरी ओर, आकांक्षा एक समर्पित पत्नी और अपने बेटे यथार्थ का ख्याल रखने वाली एक मां है। लेकिन अपने नाम की तरह वो बड़े सपने और बड़ी हसरतें रखती है। वो अपनी मध्यमवर्गीय जिंदगी से आगे निकलकर ऐशो-आराम से जीना चाहती है।

मानव और आकांक्षा के इस सफर के जरिए ‘कामना - होगा ख्वाहिशों और उसूलों का आमना-सामना’ सभी को ये सोचने पर मजबूर कर देगा कि क्या पैसा खुशी खरीद सकता है? क्या प्यार एक खुशहाल जिंदगी जीने के लिए काफी है? क्या होगा जब आकांक्षा के अरमान, मानव के सिद्धांतों से टकराएंगे?

देखिए कामना - होगा खवाहिशों और उसूलों का आमना-सामना, हर सोमवार से शुक्रवार रात 8:30 बजे, सिर्फ सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन पर!

कॉमेंट्स :

अभिषेक रावत - मानव के रोल में

"कामना एक ऐसा शो है जो हर दर्शक से जुड़ेगा, क्योंकि इसकी कहानी और इसके किरदार बड़े सच्चे हैं। यह एक आम आदमी की कहानी है और इसी वजह से मैं इस शो के प्रति आकर्षित हुआ। इस शो की खूबसूरती इसके किरदारों में है, जो अलग-अलग सोच रखते हैं लेकिन एक परिवार के रूप में वास्तविक स्थितियों का सामना करते हैं। मानव का किरदार निभाना बेहद खुशनुमा एहसास है। मुझे इस बात की खुशी है कि इस शो के निर्माताओं ने मानव के किरदार को साकार करने के लिए मुझ पर विश्वास जताया। मुझे यकीन है कि दर्शक तुरंत इस किरदार से जुड़ जाएंगे। इस शहर में आकर मेरी ढेर सारी यादें ताजा हो गई क्योंकि मैंने अपनी जिंदगी के सबसे बढ़िया दिन यहां गुजारे हैं। यह शहर मेरा घर है और अपने नए शो को प्रमोट करने के लिए यहां आकर मैं बेहद खुश हूं। मैं यहां अपने पसंदीदा व्यंजनों का लुत्फ उठाने के लिए अब और इंतजार नहीं कर सकता।"

चांदनी शर्मा - आकांक्षा के रोल में

"यह मेरी खुशकिस्मती है कि मुझे एक ऐसा किरदार निभाने का मौका मिला, जो साफ बात करती है और पक्के इरादे रखती है। ये किरदार आज की पीढ़ी से जुड़ता है, जो सपने देखने की हिम्मत करती है, और ये मानती है कि एक आरामदायक जिंदगी जीने की चाहत रखने में कोई बुराई नहीं है। मैं अपने किरदार आकांक्षा की सोच को समझती हूं क्योंकि हम कई मामलों में एक जैसे हैं। आकांक्षा एक ऐसी महिला है जो बहुत-सी चीजें करना चाहती है, लेकिन अपने पति के मध्यमवर्गीय मूल्यों के चलते अक्सर पीछे हट जाती है। यह वास्तविक लोगों की कहानी है और मुझे यकीन है कि दर्शकों ने भी अपनी जिंदगी में कहीं ना कहीं इस तरह की उलझन का सामना किया होगा। मैं पहली बार लखनऊ आई हूं और मैं कहना चाहूंगी कि इस शहर के माहौल में बड़ा अपनापन है। मुझे उम्मीद है कि मैं यहां के रॉयल कैफे की मशहूर बास्केट चाट का लुत्फ उठाऊंगी और लखनवी चिकन कुर्तियों की शॉपिंग करूंगी।"

Comments

Popular posts from this blog

नाकामियों को छुपाने को लेकर पत्रकारों पर कराया जा रहा हमला-पूर्व मंत्री कमाल यूसुफ मलिक

नाकामियों को छुपाने को लेकर पत्रकारों पर कराया जा रहा हमला-पूर्व मंत्री कमाल यूसुफ मलिक डुमरियागंज , विगत दिनों सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में L2 कोविड अस्पताल के उद्घाटन के समय पत्रकार के साथ मारपीट की घटना काफी निंदनीय है जिसकी जांच कराते हुए दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करनी चाहिए उक्त उदगार व्यक्त करते हुए डुमरियागंज के पूर्व विधायक/पूर्व मंत्री कमाल युसूफ मलिक ने कहा कि पत्रकार लोकतंत्र का चौथा स्तंभ है लेकिन जिस तरीके से प्रशासन के आला अधिकारी व जनप्रतिनिधि मौजूद थे और लोगों ने उनके साथ मारपीट किया यह अशोभनीय घटना है तथा लोकतंत्र पर कड़ा प्रहार है। सच्चाई दिखाने को लेकर पत्रकार के साथ मारपीट किया गया। उन्होंने इस घटना की निंदा करते हुए कहा कि उच्च स्तरीय कमेटी बनाकर जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्यवाही की जाए ताकि कोई भी भविष्य में लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पत्रकारों के साथ ऐसी बदसलूकी ना कर सके उन्होंने कहा कि उनके द्वारा इस संबंध में अधिकारियों को पत्र भेजते हुए राज्यपाल को इसके जांच के लिए मांग पत्र दिया जाएगा। Report: Malik Wamik

लखनऊ बादशाहनगर स्टेशन पर अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर समारोह का आयोजन

लखनऊ बादशाहनगर स्टेशन  पर अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर समारोह का आयोजन अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर  पर मण्डल परिचालन प्रबन्धक कोचिंग डॉ शिल्पी कनौजिया दुवारा बादशाहनगर स्टेशन  पर महिला दिवस पर समारोह का आयोजन किया गया । कार्यक्रम की शुरुवात मुख्य अतिथि  मण्डल रेल प्रबंधक उपस्थित अधिकारियों व स्टेशन अधीक्षक अभिषेक मिश्र के साथ मिल कर दीपप्रज्वलित किया गया था । महिला दिवस के उपलक्ष्य में बादशाहनगर रेलवे स्टेशन "कोविड 19 की दुनिया में महिलाओ का समान नेतृत्व को प्राप्त करना " विषय   रंगोलो प्रतियोगिता, पोस्टर मेकिंग ,गायन ,फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता का आयोजन महिलाओ के लिए किया गया साथ ही डाउन एएसआई लोको पायलट स्मिता कुमारी,सहायक लोको पायलट आंशिक चौधरी गार्ड जाग्रति त्रिपाठी स्टेशन मास्टर श्रीमती दीपमाला मिश्र श्रीमती रानी दुवारा हरी झंडी को दिखा कर मण्डल प्रबन्धक पूर्वोत्तर  के समक्ष रेल का संचालन सभी महिलाओ दुवारा किया गया जो महिलाओ के बढ़ते नेतृत को दर्शाता है ।  कार्यक्रम में मुख्य अतिथि  मण्डल रेल प्रबंधक डॉ मोनिका अग्निहोत्री रही ।साथ में अन्य प्रमुख अधिकारी  वरिष्ठ मण्डल पर

प्रतिनिधि उद्योग व्यापार मंड़ल लखनऊ की महिला इकाई द्वारा आयोजित महिला अधिकार सम्मेलन

प्रतिनिधि उद्योग व्यापार मंड़ल लखनऊ की महिला इकाई द्वारा आयोजित महिला अधिकार सम्मेलन लखनऊ, 16 -12- 2020,  प्रतिनिधि उद्योग व्यापार मंड़ल लखनऊ की महिला इकाई द्वारा आयोजित  लखनऊ, महिला अधिकार सम्मेलन  होटल एक्सप्रेस इन रिंग रोड लखनऊ में आज सम्पन्न हुआ।   सम्मेलन में मुख्य अतिथि मा अनूप शुक्ला जी राष्ट्रीय अध्यक्ष का बड़ी माला तलवार मोमेंटो प्रदान कर ज़ोर दार स्वागत हुआ। समारोह की अध्यक्षता स्नेहलता सिंह प्रदेश महासचिव एवं संचालन राहुल गुप्ता ज़िलाध्यक्ष हिना कैसर ज़िला प्रभारी महिला द्वारा की गई।  सम्मेलन में मुख्य अतिथि मा अनूप शुक्ला जी नेकहा आज महिलायें सुरक्षित नहीं है। जगह जगह महिलाओं पर अपराध की घटनायें बड़ रही है। आज महिलाओं को अधिकार देने एवं आत्म निर्भर बनाने की ज़रूरत है। क़ानून तो बन जाते है पर अधिकारी  महिलाओं को न्याय दिलाने में सक्षम साबित नहीं हो रहे है न्याय के लिए दर दर भटकना पड़ता है। जब घटना आंदोलन का रूप लेती है और मीडिया द्वारा उसको सामने लाया जाता है  तब अधिकारी एवं सरकार जागते है ये कब तक चलेगा। महिलाओं को अपने अधिकारो के लिए सड़कों पर आना होगा तभी न्याय मिलेगा। सर