Skip to main content

एचडीएफसी बैंक ने 5वां परिवर्तन स्मार्ट-अप ग्रांट लॉन्च किया


 एचडीएफसी बैंक ने 5वां परिवर्तन स्मार्ट-अप ग्रांट लॉन्च किया

  • 15 करोड़ रुपये तक के अनुदान के लिए बजट आवंटित
  • पर्यावरण, स्वास्थ्य और लिंग विविधता पर केंद्रित स्टार्ट-अप और इन्क्यूबेटरों से आवेदन का आमंत्रण

लखनऊ, 9 नवंबर, 2021: एचडीएफसी बैंक ने आज अपने स्मार्टअप अनुदान के पांचवें संस्करण के लिए आवेदन शुरू किए l एचडीएफसी बैंक अपनी कॉर्पोरेट सामाजिक जिम्मेदारी के लिए यह वार्षिक कार्यक्रम #परिवर्तन के अंतर्गत सामाजिक स्टार्ट-अप और इन्क्यूबेटरों को धन प्रदान करता है। इस साल बैंक ने स्मार्टअप अनुदान के लिए 15 करोड़ रुपये तक का आवंटन किया है।

पर्यावरण, स्वास्थ्य देखभाल और लिंग विविधता के क्षेत्र में काम करने वाले 12-15 इन्क्यूबेटरों एवं लगभग 50 स्टार्ट-अप्स का चयन होगा l आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि नवंबर, 2021 का तीसरा सप्ताह है और विजेताओं की घोषणा फरवरी, 2022 में की जाएगी l

कृषि व्यवसाय, एड-टेक, अपशिष्ट प्रबंधन, स्वास्थ्य सेवा और कौशल विकास जैसे क्षेत्रों में अब तक बैंक ने 22 इनक्यूबेटर भागीदारों के माध्यम से 90 स्टार्ट-अप्स को 20 करोड़ रुपये वितरित किए हैं l

बैंक चालू वर्ष के लिए 15 करोड़ रुपये तक के वितरण के लिए 2 अलग-अलग तरीकों का प्रस्ताव रख रहा है:

(1) सीएसआर कार्यक्रम की आवश्यकताओं एवं फोकस क्षेत्र के आधार पर तथा कंपनी अधिनियम, 2013 की अनुसूची VII के अनुसार इन्क्यूबेटर पात्र को अनुदान प्रक्रिया का निष्पादन होगा l एप्लिकेशन में इन्क्यूबेटर्स, स्टार्टअप्स की एक लंबी सूची भी प्रदान करेंगे जो कि बैंक के कार्यक्रम फोकस क्षेत्र के अनुरूप होंगे l  

(2) ऐसे स्टार्टअप, जो इनोवेशन, उत्पादों का विकास, उत्पादों में सुधार या रोजगार सृजन की उच्च क्षमता वाले एक स्केलेबल बिजनेस मॉडल की दिशा में काम कर रहे हैं तथा कंपनी (कॉर्पोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी पॉलिसी) नियम 2014 के अनुरूप हैं, आवेदन करने के योग्य हैं l  

आशिमा भट, ग्रुप हेड सीएसआर, बिजनेस फाइनेंस, एचडीएफसी बैंक ने कहा, "स्मार्टअप अनुदान सामाजिक उद्यमियों के समर्थन और पोषण के लिए हैं" l "समाज की जरूरतों को पूरा करने के लिए भारत को इनोवेटिव व्यवसाय की जरूरत है" l हम तीन फोकस क्षेत्र: में काम कर रहे स्टार्ट-अप और इन्क्यूबेटर्स की खोज में हैं: पर्यावरण - प्रकृति का संरक्षण,स्वास्थ्य - स्वास्थ्य सेवा में सुधार; और लिंग विविधता - लैंगिक समानता में सुधार l उन्होंने बताया कि यह सोच हमारे परिवर्तन कार्यक्रम के कुछ बड़े रणनीतिक लक्ष्य के अनुरूप है l  

"स्टार्टअप उस दुनिया की फिर से कल्पना कर रहे हैं और उसे नया आकार दे रहे हैं जिसमें हम रहते हैं। स्मिता भगत, कंट्री हेड, गवर्नमेंट एंड इंस्टीटूशनल बिज़नेस,ई-कॉमर्स एंड स्टार्ट-अप्स, एचडीएफसी बैंक ने कहा की भारत में स्टार्ट-अप कम्युनिटी और स्टार्ट-अप इकोसिस्टम के विकास, सुदृढ़ीकरण और सहयोग के लिए एचडीएफसी बैंक प्रतिबद्ध है l "इस साल इनक्यूबेटरों को आमंत्रित करके हम देश भर में अपनी पहुंच का और विस्तार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमें पूरा भरोसा है कि हमारा यह दृष्टिकोण और अधिक स्टार्ट-अप्स एवं सामाजिक उद्यमियों के लिए वित्त-पोषण के अवसरों को बढ़ाएगा" l

शॉर्टलिस्ट किए गए इन्क्यूबेटरों और स्टार्ट-अप्स की घोषणा नवंबर के अंत तक की जाएगी और उन्हें एचडीएफसी बैंक के शीर्ष प्रबंधन वाले स्क्रीनिंग पैनल में प्रस्तुतीकरण के लिए आमंत्रित किया जायेगा l शॉर्टलिस्ट की गई संस्थाओं के लिए तत्परता दिसंबर से शुरू हो जाएगी और अंतिम विजेताओं की उद्घोषणा फरवरी, 2022 में की जाएगी l  

एचडीएफसी बैंक द्वारा स्टार्ट-अप स्पेस में इनोवेशन और एंटरप्राइज की भावना को विकसित करने के लिए स्मार्ट-अप अनुदान देना एक बड़े प्रयास का हिस्सा है l एचडीएफसी बैंक का स्मार्ट-अप समाधान विशेष रूप से उद्यमियों के लिए बैंकिंग और परामर्श सेवा प्रदान करता है l

इस यात्रा की शुरुआत स्मार्टअप सॉल्यूशन के लॉन्च के साथ हुई, जो कि स्टार्ट-अप के लिए अपनी तरह का पहला बैंकिंग समाधान है जिसे स्टार्ट-अप के लिए भुगतान समाधान, परामर्श एवं विदेशी मुद्रा सेवाओं जैसी सभी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए तैयार किया गया है l  

इसके अलावा, बैंक के स्मार्टअप पोर्टल को एक्सेस करके, स्टार्ट-अप्स अपनी समस्त सेवाएं देते हुए अन्य स्टार्ट-अप्स के संपूर्ण नेटवर्क का ज्ञान और अनुभव प्राप्त कर सकते हैं l भारत भर के 30 शहरों में अब 67 से अधिक डेडिकेटेड स्मार्टअप जोन कार्यरत हैं जिनमें स्टार्ट-अप हब के रूप में उभर रहे टियर-2 और टियर-3 के शहर भी शामिल हैं l

इन्क्यूबेटर्स के लिए आवेदन विवरण यहां पाया जा सकता है:

https://app.thebizplanner.com/public/application/inc/61826a659553c806abe968d7

 स्टार्ट-अप्स के लिए आवेदन विवरण यहां पाया जा सकता है:

https://app.thebizplanner.com/public/application/inc/61826e9d9553c8b659e96902

About HDFC Bank

To know more about HDFC Bank, log on to www.hdfcbank.com

Comments

Popular posts from this blog

आत्मा अजर अमर है! मृत्यु के बाद का जीवन आनन्द एवं हर्षदायी होता है!

-आध्यात्मिक लेख  आत्मा अजर अमर है! मृत्यु के बाद का जीवन आनन्द एवं हर्षदायी होता है! (1) मृत्यु के बाद शरीर मिट्टी में तथा आत्मा ईश्वरीय लोक में चली जाती है :विश्व के सभी महान धर्म हिन्दू, बौद्ध, ईसाई, मुस्लिम, जैन, पारसी, सिख, बहाई हमें बताते हैं कि आत्मा और शरीर में एक अत्यन्त विशेष सम्बन्ध होता है इन दोनों के मिलने से ही मानव की संरचना होती है। आत्मा और शरीर का यह सम्बन्ध केवल एक नाशवान जीवन की अवधि तक ही सीमित रहता है। जब यह समाप्त हो जाता है तो दोनों अपने-अपने उद्गम स्थान को वापस चले जाते हैं, शरीर मिट्टी में मिल जाता है और आत्मा ईश्वर के आध्यात्मिक लोक में। आत्मा आध्यात्मिक लोक से निकली हुई, ईश्वर की छवि से सृजित होकर दिव्य गुणों और स्वर्गिक विशेषताओं को धारण करने की क्षमता लिए हुए शरीर से अलग होने के बाद शाश्वत रूप से प्रगति की ओर बढ़ती रहती है। (2) सृजनहार से पुनर्मिलन दुःख या डर का नहीं वरन् आनन्द के क्षण है : (2) सृजनहार से पुनर्मिलन दुःख या डर का नहीं वरन् आनन्द के क्षण है :हम आत्मा को एक पक्षी के रूप में तथा मानव शरीर को एक पिजड़े के समान मान सकते है। इस संसार में रहते हुए

लखनऊ में स्मारक समिति कर्मचारियों का जोरदार प्रदर्शन

लखनऊ में स्मारक समिति कर्मचारियों का जोरदार प्रदर्शन स्मारक कर्मचारियों ने किया कार्य बहिष्कार कर्मचारियों ने विधानसभा घेराव का किया ऐलान जानिए किन मांगों को लेकर चल रहा है प्रदर्शन लखनऊ 2 जनवरी 2024 लखनऊ में स्मारक समिति कर्मचारियों का जोरदार प्रदर्शन स्मारक कर्मचारियों ने किया कार्य बहिष्कार और कर्मचारियों ने विधानसभा घेराव का भी है किया ऐलान इनकी मांगे इस प्रकार है पुनरीक्षित वेतनमान-5200 से 20200 ग्रेड पे- 1800 2- स्थायीकरण व पदोन्नति (ए.सी.पी. का लाभ), सा वेतन चिकित्सा अवकाश, मृत आश्रित परिवार को सेवा का लाभ।, सी.पी. एफ, खाता खोलना।,  दीपावली बोनस ।

भगवान चित्रगुप्त व्रत कथा पुस्तक का भव्य विमोचन

भगवान चित्रगुप्त व्रत कथा पुस्तक का भव्य विमोचन लखनऊ, जुलाई 2023, अयोध्या के श्री धर्महरि चित्रगुप्त मंदिर में भगवान चित्रगुप्त व्रत कथा पुस्तक का भव्य विमोचन  किया गया। बलदाऊजी द्वारा संकलित तथा सावी पब्लिकेशन लखनऊ द्वारा प्रकाशित इस पुस्तक का विमोचन संत शिरोमणी श्री रमेश भाई शुक्ल द्वारा किया गया जिसमे आदरणीय वेद के शोधक श्री जगदानंद झा  जी भी उपस्थित रहै उन्होने चित्रगुप्त भगवान् पर व्यापक चर्चा की।  इस  अवसर पर कई संस्था प्रमुखो ने श्री बलदाऊ जी श्रीवास्तव को शाल पहना कर सम्मानित किया जिसमे जेo बीo चित्रगुप्त मंदिर ट्रस्ट,  के अध्यक्ष श्री दीपक कुमार श्रीवास्तव, महामंत्री अमित श्रीवास्तव कोषाध्यक्ष अनूप श्रीवास्तव ,कयस्थ संध अन्तर्राष्ट्रीय के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिनेश खरे, अ.भा.का.म के प्रदेश अध्यक्ष श्री उमेश कुमार जी एवं चित्रांश महासभा के कार्वाहक अध्यक्ष श्री संजीव वर्मा जी के अतिरिक्त अयोध्या नगर के कई सभासद भी सम्मान मे उपस्थित रहे।  कार्यक्रम की अध्यक्षता संस्था के अध्यक्ष दीपक श्रीवास्तव जी ने की एवं समापन महिला अध्यक्ष श्री मती प्रमिला श्रीवास्तव द्वारा किया गया। कार्यक्रम