Skip to main content

इप्सेफ के आह्वान पर पूरे देश में भारत छोड़ो आंदोलन दिवस पर कर्मचारियों ने अपनी आवाज बुलंद की।

इप्सेफ के आह्वान पर पूरे देश में भारत छोड़ो आंदोलन दिवस पर कर्मचारियों ने अपनी आवाज बुलंद की।

  • मांगों के संबंध में प्रधानमंत्री, राज्यों के मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा गया।

लखनऊ I नई पेंशन योजना भारत छोड़ो, संविदा ठेका बंद करो ठेकेदारी प्रथा भारत छोड़ो, वेतन भत्तों मे असमानता भारत छोड़ो, आदि नारों के साथ आंदोलन दिवस पर आज देशभर के कर्मचारियों ने अपनी मांगों पर आवाज बुलंद करते हुए माननीय प्रधानमंत्री जी, मा0 मुख्यमंत्री जी को ज्ञापन भेजा। देश के राज्य कर्मचारियो के साथ, केंद्रीय कर्मचारी, निकाय कर्मचारी, संविदा कर्मचारियों ने आज अपने-अपने कार्यालयों में नारेबाजी कर प्रदर्शन किया।

उत्तर प्रदेश में कार्यक्रम का नेतृत्व राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद ने किया परिषद की सभी जनपद शाखाओं तहसील, ब्लाक स्तर तक पदाधिकारियों व कर्मचारियों के साथ संम्बध संघो द्वारा प्रदर्शन कर ज्ञापन प्रेषित किया गया।

लखनऊ में प्रमुख कार्यक्रम बलरामपुर चिकित्सालय में संपन्न हुआ जिसमें इप्सेफ के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री वी पी मिश्रा परिषद के अध्यक्ष सुरेश रावत, महामंत्री अतुल मिश्रा, वरिष्ठ उपाध्यक्ष गीरीश चन्द्र मिश्रा, संगठन प्रमुख के के सचान, प्रवक्ता अशोक कुमार, जनपद अध्यक्ष सुभाष श्रीवास्तव, इप्सेफ के प्रवक्ता एवं फार्मासिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष सुनील यादव, सचिव डॉ पी के सिंह, परिषद के उपाध्यक्ष धनंजय तिवारी,एस0 के0 पाठक, जे0पी0 मौर्य, ऑप्टोमेट्रिस्ट संघ के अध्यक्ष सर्वेश पाटिल, सतीश यादव, अभय पांडे, डी डी त्रिपाठी, आर के पी सिंह, राम मनोहर कुशवाहा, श्रवण सचान, सुनील कुमार मीडिया प्रभारी, राजेश चौधरी मण्डलीय मंत्री, का0 सचिव कमल श्रीवास्तव अजय पांडे, महामंत्री अशोक कुमार, परिषद के जिला मंत्री संजय पांडे आदि उपस्थित थे।

इप्सेफ के राष्ट्रीय अध्यक्ष वी पी मिश्र ने कहा की केंद्र सरकार द्वारा फ्रिज महंगाई भत्ते की बहाली की घोषणा की गई, लेकिन एरियर घोषित नहीं की गई वही उत्तर प्रदेश सहित अन्य राज्यों में अभी तक महंगाई भत्ते की घोषणा ही नहीं की गई, जिससे कर्मचारी भीषण महंगाई से त्रस्त है। इप्सेफ प्रधानमंत्री जी से एक देश एक  वेतन के सिद्धांत पर निर्णय करने की मांग की है।

श्री मिश्रा ने कहा कि पूरे देश के कर्मचारी नई पेंशन योजना को स्वीकार नहीं कर रहे हैं इसलिए इस योजना को समाप्त कर पुरानी पेंशन योजना को सभी कर्मचारियों पर लागू किया जाए। देश में निजी करण प्रथा जनता के हित में नहीं है। अतः इसे समाप्त कर स्थाई पदों का सृजन करना चाहिए, सभी रिक्त पदों को भरा जाए, पदोन्नतिया की जाय, संविदा और ठेकेदारी प्रथा को समाप्त किया जाना चाहिए वर्तमान में जो संविदा और ठेके के कर्मचारी कार्यरत हैं नीति बनाकर उन्हें स्थाई किया जाए। 30 जून को सेवानिवृत्त होने वाले कर्मचारियों को इन्क्रीमेन्ट जोड़कर पेंशन का लाभ दिया जाये। अंग्रेजो के समय के बने हुये कन्डक्ट रूल को संशोधन कर प्रजातांत्रिक व्यवस्था लागू की जाये।

परिषद के अध्यक्ष सुरेश रावत, महामंत्री अतुल मिश्रा ने कहा कि शहीद कोरोना वारियर्स के परिवार की 50 लाख की अनुग्रह राशि मिलने में हो रहे विलंब को रोका जाना आवश्यक है, उन्होंने कहा कि आज प्रदेश के सभी 75 जनपद शाखा द्वारा व्यापक प्रदर्शन पर सात सूत्रीय ज्ञापन माननीय प्रधानमंत्री जी, मा0 वित्तमंत्री भारत सरकार, माननीय मुख्यमंत्री जी सहित कैबिनेट सचिव भारत सरकार, मुख्य सचिव उत्तर प्रदेश को प्रेषित कर मांगों की पूर्ति का अनुरोध किया गया।

इप्सेफ के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुनील यादव ने बताया कि देश के अधिकांश राज्यों में विभिन्न कार्यालयों में कार्यक्रम संपन्न हुआ। कर्मचारियों ने नारों के पट्टिया लेकर अपनी आवाज उठाई।

राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद जनपद लखनऊ के अध्यक्ष सुभाष श्रीवास्तव ने बताया कि लखनऊ के रोडवेज, गन्ना, सभी चिकित्सालयों, वन विभाग, व्यापार कर, केजीएमयू, डॉ आर एम एल संस्थान, समाज कल्याण आदि कार्यालयों में कर्मचारियों ने नारेबाजी कर प्रदर्शन किया।

Comments

Popular posts from this blog

नाकामियों को छुपाने को लेकर पत्रकारों पर कराया जा रहा हमला-पूर्व मंत्री कमाल यूसुफ मलिक

नाकामियों को छुपाने को लेकर पत्रकारों पर कराया जा रहा हमला-पूर्व मंत्री कमाल यूसुफ मलिक डुमरियागंज , विगत दिनों सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में L2 कोविड अस्पताल के उद्घाटन के समय पत्रकार के साथ मारपीट की घटना काफी निंदनीय है जिसकी जांच कराते हुए दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करनी चाहिए उक्त उदगार व्यक्त करते हुए डुमरियागंज के पूर्व विधायक/पूर्व मंत्री कमाल युसूफ मलिक ने कहा कि पत्रकार लोकतंत्र का चौथा स्तंभ है लेकिन जिस तरीके से प्रशासन के आला अधिकारी व जनप्रतिनिधि मौजूद थे और लोगों ने उनके साथ मारपीट किया यह अशोभनीय घटना है तथा लोकतंत्र पर कड़ा प्रहार है। सच्चाई दिखाने को लेकर पत्रकार के साथ मारपीट किया गया। उन्होंने इस घटना की निंदा करते हुए कहा कि उच्च स्तरीय कमेटी बनाकर जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्यवाही की जाए ताकि कोई भी भविष्य में लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पत्रकारों के साथ ऐसी बदसलूकी ना कर सके उन्होंने कहा कि उनके द्वारा इस संबंध में अधिकारियों को पत्र भेजते हुए राज्यपाल को इसके जांच के लिए मांग पत्र दिया जाएगा। Report: Malik Wamik

लखनऊ बादशाहनगर स्टेशन पर अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर समारोह का आयोजन

लखनऊ बादशाहनगर स्टेशन  पर अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर समारोह का आयोजन अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर  पर मण्डल परिचालन प्रबन्धक कोचिंग डॉ शिल्पी कनौजिया दुवारा बादशाहनगर स्टेशन  पर महिला दिवस पर समारोह का आयोजन किया गया । कार्यक्रम की शुरुवात मुख्य अतिथि  मण्डल रेल प्रबंधक उपस्थित अधिकारियों व स्टेशन अधीक्षक अभिषेक मिश्र के साथ मिल कर दीपप्रज्वलित किया गया था । महिला दिवस के उपलक्ष्य में बादशाहनगर रेलवे स्टेशन "कोविड 19 की दुनिया में महिलाओ का समान नेतृत्व को प्राप्त करना " विषय   रंगोलो प्रतियोगिता, पोस्टर मेकिंग ,गायन ,फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता का आयोजन महिलाओ के लिए किया गया साथ ही डाउन एएसआई लोको पायलट स्मिता कुमारी,सहायक लोको पायलट आंशिक चौधरी गार्ड जाग्रति त्रिपाठी स्टेशन मास्टर श्रीमती दीपमाला मिश्र श्रीमती रानी दुवारा हरी झंडी को दिखा कर मण्डल प्रबन्धक पूर्वोत्तर  के समक्ष रेल का संचालन सभी महिलाओ दुवारा किया गया जो महिलाओ के बढ़ते नेतृत को दर्शाता है ।  कार्यक्रम में मुख्य अतिथि  मण्डल रेल प्रबंधक डॉ मोनिका अग्निहोत्री रही ।साथ में अन्य प्रमुख अधिकारी  वरिष्ठ मण्डल पर

किसानों के संघर्ष व दर्द की कहनी है फिल्म 'गोदाम' : सुजीत प्रताप

किसानों के संघर्ष व दर्द की कहनी है फिल्म 'गोदाम' : सुजीत प्रताप - 17 दिसम्बर को अखिल भारतीय स्तर पर होगी प्रदर्शित  लखनऊ, 10 दिसम्बर 2021। किसानों के बहुत से मुद्दों को फिल्म निर्माता समय—समय पर उठाते रहे हैं। ऐसे ही ग़ाज़ीपुर के सुजीत प्रताप सिंह ने किसानों पर आधारित फिल्म गोदाम का निर्माण किया है, जो अखिल भारतीय स्तर पर आगामी 17 दिसम्बर को प्रदर्शित होगी। इस बात की जानकारी फिल्म के निर्माता सुजीत प्रताप सिंह ने आज राजधानी मे पत्रकारों को दी। उन्होनें बताया की सार्थक सिनेमा के बैनर तले बनी फिल्म गोदाम मे मास्टर ऋत्विक प्रताप सिंह, अखिल गौरव सिंह, विपिन पाणिग्रही, माया जायसवाल, अक्सर इलाहाबादी, सनी उपाध्याय, शायना खान, अरुण शुक्ला, हुमा कमाल, सुजीत प्रताप सहित अन्य अभिनेता फिल्म में नजर आएंगे। उन्होनें बताया की फिल्म का निर्देशन अखिल गौरव सिंह और अक्सर इलाहाबादी ने किया है। हीरोइन का किरदार एस बबली ने निभाया है। फिल्म गोदाम मे मुख्य भूमिका निभा रहे सुजीत प्रताप सिंह ने बताया कि वह स्वयं किसानों के परिवार से ताल्लुक रखते हैं, इसलिए किसानों का दर्द और संघर्ष जानते हैं। उन्होंने इस