Skip to main content

बालिका का महिला के रूप में बड़ा होना, ईश्वर द्वारा सृष्टि और ब्रह्माण्ड की रचना के समतुल्य है- जस्टिस अताउर रहमान मसूदी

बालिका का महिला के रूप में बड़ा होना, ईश्वर द्वारा सृष्टि और ब्रह्माण्ड की रचना के समतुल्य है- जस्टिस अताउर रहमान मसूदी

लखनऊ, 10 मार्च 2021: अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर इन्स्टीट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट रिसर्च एण्ड टेक्नोलॉजी (आईएमआरटी) में चल रहे महिला सशक्तीकरण सप्ताह का अंतिम दिन बेहद हर्षोल्लास के साथ शुरू हुआ। इस कार्य्रक्रम में हस्तियों की गरिमामयी उपस्थिति ने इस कार्यक्रम के आयोजन के उद्देश्य को चरितार्थ किया और आयोजन समिति को भविष्य में ऐसे ही कार्यक्रम आयोजित करने के लिए प्रोत्साहित किया।

कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्ज्वलन के साथ भगवान के आशीर्वाद के लिए मंगलाचरण से हुई। जानी-मानी सेलिब्रिटी एंकर अनुकृति गोविंद शर्मा ने अंतिम दिन डॉ अनीता भटनागर जैन, आईएएस (आर), (सदस्य प्रशासनिक ट्रिब्यूनल), माननीय श्री न्यायमूर्ति अताउर रहमान मसूदी, (न्यायमूर्ति, उच्च न्यायालय) का स्वागत और परिचय कराया। सुश्री नीरा रावत, आईपीएस (एडीजी, महिला पावरलाइन), श्रीमती मोनिका गर्ग, आईएएस (अतिरिक्त मुख्य सचिव, उच्च शिक्षा), सुश्री किंशुक श्रीवास्तव, पीसीएस (एसडीएम सरोजनी नगर लखनऊ), सुश्री लक्ष्मी सिंह, आईपीएस (आईजी लखनऊ रेंज) और डॉ. सरोजिनी अग्रवाल (लेखिका- यतीम और बेसहारा बच्चियों के लिए अनाथ गृह, मनीषा मंदिर की संस्थापक)।

मुख्य अतिथि माननीय श्री न्यायमूर्ति अताउर रहमान मसूदी ने सफल आयोजन के लिए हर एक को बधाई दी और महिलाओं को जीवन में अपने वांछित लक्ष्य को प्राप्त करने तक लक्ष्य उन्मुख और दृढ़ रहने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा, “आप सभी महिलाओं की जीवंतता और एक दूसरे के प्रति जिम्मेदार हैं। बालिका का महिला के रूप में बड़ा होना ठीक वैसे ही है जैसे भगवान ने इस ब्रह्मांड का निर्माण किया है। आप सभी अपने आप मे एक ब्रहांड समेटे हुए हैं और उसके प्रति अपनी जिम्मेदारी के प्रति जागरूक भी हैं।“ अपने-अपने क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए अतिथि वक्ताओं का स्वागत किया गया, इस अवसर पर छात्रों ने अतिथि वक्ताओं से महिला सशक्तीकरण पर कुछ प्रश्न पूछे।

डॉ. अनीता भटनागर जैन ने छात्र-छात्राओं को डॉक्यूमेंट्री "एक दिन की दुर्गा" दिखाई, जिसमें यह संदेश दिया गया कि महिलाओं के प्रति हिंसा को सामाजिक रूप से स्वीकार नहीं किया जाना चाहिए और यह भी बताया गया है कि लड़कियों को "पराया धन" के रूप में माना जाता है, हमें इसके खिलाफ आवाज उठाने की जरूरत है। आवाज उठाने से ही हमारे बच्चों के बीच भेदभाव को रोका जा सकता है। आईपीएस सुश्री नीरा रावत ने महिला सशक्तीकरण के बारे में एक वीडियो प्रेजेंटेशन दिया और बताया कि सही मायनों में सशक्तीकरण उन्हें शिक्षा, विवाह और दोस्तों के बारे में चुनाव करने की अनुमति देना है और उन्होंने लड़कियों की सुरक्षा के लिए  द्वारा स्थापित वीमेन पॉवर लाइन 1090 की कार्य-प्रणाली और उसके महत्व को समझाया।

आईएएस श्रीमती मोनिका गर्ग ने महिला सुरक्षा और लैंगिक समानता के बारे में चर्चा करते हुए लड़कों के अभिभावकों का आह्वान किया कि वे हर महिला के लैंगिक अधिकारों और उनके सुरक्षा के अधिकारों का सम्मान करने का बिना किसी भेदभाव के शपथ लें। सुश्री लक्ष्मी सिंह, आईपीएस ने कहा कि हम देवी की प्रतिमाओं की पूजा करते हैं, लेकिन जो महिलाएं जीवन के हर चरण में हमारा साथ देती हैं, वे हमेशा ही कमज़ोर रहती हैं। उन्होंने कहा कि इस सोच को बदलने की जरुरत और कहा कि महिलाओं को अपने जीवन में किसी भी तरह के संघर्ष का सामना हिम्मत से करें उन्हें किसी चीज से डरने की जरूरत नहीं है। डॉ। सरोजिनी अग्रवाल ने अपनी जीवन की घटना के बारे में बताते हुए सभी को प्रोत्साहित किया कि 1978 मे उनकी 8 साल की बेटी की मृत्यु के बाद उन्होंने खुद से वादा किया कि वह हर जरूरतमंद लड़की की परवरिश का ख्याल रखेंगी क्योंकि वह आज भी हर बालिका में उन्हें अपनी बेटी को देखती हैं।

सुश्री राधा बहन ने कहा कि हम एक ऐसे देश में रह रहे हैं, जिसे भारत माता कहा जाता है, यहां पुरुष भी निवास करते हैं हैं, जो यह दर्शाता है कि पुरुष महिलाओं के प्रतियोगी नहीं हैं, बल्कि महिला-पुरुष दोनों एक-दूसरे के पूरक हैं। इस अवसर पर छात्रों ने एक भारतीय फ्यूजन डांस एंड ग्रुप सांग प्रदर्शन के माध्यम से सभा का स्वागत किया। अतिथि प्रदर्शन में छात्रों के प्रदर्शन से मंत्रमुग्ध हो गए और एक खड़े ओवेशन के साथ उनके प्रयासों की सराहना की।

इस आयोजन के समापन अवसर पर श्री देश राज बंसल (सेवानिवृत्त IFS), चेयरमैन आईएमआरटी ने सभी अतिथियों को इस आयोजन का हिस्सा बनने और छात्रों को उनके भविष्य के लिए प्रेरित करने के लिए धन्यवाद दिया। वह उन्हें यह भी आश्वासन दिया कि भविष्य में भी आईएमआरटी इस प्रकार के सामाजिक आयोजनों के सिलसिले को जारी रखेगा और समाज के लाभ के लिए भी काम करता रहेगा। उन्होंने समारोह में आए मेहमानों से भविष्य के कार्यक्रमों का भी हिस्सा बनने का अनुरोध भी किया। कार्यक्रम के आयोजन व्यवस्था में लगे संजीव बंसल ने अतिथियों, छात्र-छात्राओं और कॉलेज की प्रबंधन समिति का इस सफल आयोजन के लिए धन्यवाद दिया।

Comments

Popular posts from this blog

आत्मा अजर अमर है! मृत्यु के बाद का जीवन आनन्द एवं हर्षदायी होता है!

-आध्यात्मिक लेख  आत्मा अजर अमर है! मृत्यु के बाद का जीवन आनन्द एवं हर्षदायी होता है! (1) मृत्यु के बाद शरीर मिट्टी में तथा आत्मा ईश्वरीय लोक में चली जाती है :विश्व के सभी महान धर्म हिन्दू, बौद्ध, ईसाई, मुस्लिम, जैन, पारसी, सिख, बहाई हमें बताते हैं कि आत्मा और शरीर में एक अत्यन्त विशेष सम्बन्ध होता है इन दोनों के मिलने से ही मानव की संरचना होती है। आत्मा और शरीर का यह सम्बन्ध केवल एक नाशवान जीवन की अवधि तक ही सीमित रहता है। जब यह समाप्त हो जाता है तो दोनों अपने-अपने उद्गम स्थान को वापस चले जाते हैं, शरीर मिट्टी में मिल जाता है और आत्मा ईश्वर के आध्यात्मिक लोक में। आत्मा आध्यात्मिक लोक से निकली हुई, ईश्वर की छवि से सृजित होकर दिव्य गुणों और स्वर्गिक विशेषताओं को धारण करने की क्षमता लिए हुए शरीर से अलग होने के बाद शाश्वत रूप से प्रगति की ओर बढ़ती रहती है। (2) सृजनहार से पुनर्मिलन दुःख या डर का नहीं वरन् आनन्द के क्षण है : (2) सृजनहार से पुनर्मिलन दुःख या डर का नहीं वरन् आनन्द के क्षण है :हम आत्मा को एक पक्षी के रूप में तथा मानव शरीर को एक पिजड़े के समान मान सकते है। इस संसार में रहते हुए

लखनऊ में स्मारक समिति कर्मचारियों का जोरदार प्रदर्शन

लखनऊ में स्मारक समिति कर्मचारियों का जोरदार प्रदर्शन स्मारक कर्मचारियों ने किया कार्य बहिष्कार कर्मचारियों ने विधानसभा घेराव का किया ऐलान जानिए किन मांगों को लेकर चल रहा है प्रदर्शन लखनऊ 2 जनवरी 2024 लखनऊ में स्मारक समिति कर्मचारियों का जोरदार प्रदर्शन स्मारक कर्मचारियों ने किया कार्य बहिष्कार और कर्मचारियों ने विधानसभा घेराव का भी है किया ऐलान इनकी मांगे इस प्रकार है पुनरीक्षित वेतनमान-5200 से 20200 ग्रेड पे- 1800 2- स्थायीकरण व पदोन्नति (ए.सी.पी. का लाभ), सा वेतन चिकित्सा अवकाश, मृत आश्रित परिवार को सेवा का लाभ।, सी.पी. एफ, खाता खोलना।,  दीपावली बोनस ।

भगवान चित्रगुप्त व्रत कथा पुस्तक का भव्य विमोचन

भगवान चित्रगुप्त व्रत कथा पुस्तक का भव्य विमोचन लखनऊ, जुलाई 2023, अयोध्या के श्री धर्महरि चित्रगुप्त मंदिर में भगवान चित्रगुप्त व्रत कथा पुस्तक का भव्य विमोचन  किया गया। बलदाऊजी द्वारा संकलित तथा सावी पब्लिकेशन लखनऊ द्वारा प्रकाशित इस पुस्तक का विमोचन संत शिरोमणी श्री रमेश भाई शुक्ल द्वारा किया गया जिसमे आदरणीय वेद के शोधक श्री जगदानंद झा  जी भी उपस्थित रहै उन्होने चित्रगुप्त भगवान् पर व्यापक चर्चा की।  इस  अवसर पर कई संस्था प्रमुखो ने श्री बलदाऊ जी श्रीवास्तव को शाल पहना कर सम्मानित किया जिसमे जेo बीo चित्रगुप्त मंदिर ट्रस्ट,  के अध्यक्ष श्री दीपक कुमार श्रीवास्तव, महामंत्री अमित श्रीवास्तव कोषाध्यक्ष अनूप श्रीवास्तव ,कयस्थ संध अन्तर्राष्ट्रीय के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिनेश खरे, अ.भा.का.म के प्रदेश अध्यक्ष श्री उमेश कुमार जी एवं चित्रांश महासभा के कार्वाहक अध्यक्ष श्री संजीव वर्मा जी के अतिरिक्त अयोध्या नगर के कई सभासद भी सम्मान मे उपस्थित रहे।  कार्यक्रम की अध्यक्षता संस्था के अध्यक्ष दीपक श्रीवास्तव जी ने की एवं समापन महिला अध्यक्ष श्री मती प्रमिला श्रीवास्तव द्वारा किया गया। कार्यक्रम