Skip to main content

अन्तर्राष्ट्रीय पर्यावरण ओलम्पियाड का तीसरा दिन


अन्तर्राष्ट्रीय पर्यावरण ओलम्पियाड का तीसरा दिन


विभिन्न रोचक प्रतियोगिताओं द्वारा पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया देश-विदेश के प्रतिभागी छात्रों ने


लखनऊ। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, कानपुर रोड ऑडिटोरियम में चल रहे चार दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय पर्यावरण ओलम्पियाड (आई.ई.ओ.-2019) के तीसरे दिन आज देश-विदेश से पधारे प्रतिभागी छात्रों ने इन्वार्यनमेन्ट क्विज, कोर्ट रूम ड्रामा एवं पेन्टिंग आदि विभिन्न रोचक प्रतियोगिताओं के माध्यम से बड़े ही जोरदार ढंग से पर्यावरण संरक्षण का संदेश सारी दुनिया को दिया। इसके अलावा, प्रख्यात पर्यावरणविदों व आमन्त्रित अतिथियों ने अलग-अलग विषयों पर आयोजित 'पर्यावरण कार्यशाला' के अन्तर्गत किशोर व युवा पीढ़ी को बिगड़ते पर्यावरण की विभीषिका से अवगत कराया, साथ ही इसके समाधान हेतु उनमें जोश व उत्साह का अलख जगाया। विदित हो कि सी.एम.एस. गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) द्वारा अन्तर्राष्ट्रीय पर्यावरण ओलम्पियाड का आयोजन 12 से 15 दिसम्बर तक सी. एम.एस. कानपुर रोड ऑडिटोरियम में किया जा रहा है जिसमें देश-विदेश के प्रतिभागी छात्र विभिन्न प्रतियोगिताओं के माध्यम से पर्यावरण संवर्धन का संदेश दे रहे हैं।


__ आई.ई.ओ.-2019 के तीसरे दिन प्रतियोगिताओं का सिलसिला आज स्टिल वाटर्स (पेन्टिंग) प्रतियोगिता से हुआ, जिसमें देश-विदेश के प्रतिभागी छात्रों ने बड़े जोश व उत्साह से अपने हुनर का प्रदर्शन किया। सीनियर वर्ग की इस प्रतियोगिता में प्रतिभागी छात्रों ने एक से बढ़कर एक जीवन्त कलाकृतियाँ उकेर कर अपनी कलात्मक प्रतिभा का परचम लहराया


प्रातःकालीन में ही आयोजित जूनियर वर्ग की 'लॉ ऑफ नेचर' (कोर्ट रूम ड्रामा) प्रतियोगिता ने भी दर्शकों को खूब लुभायाइस प्रतियोगिता में देश-विदेश के 25 छात्रों ने प्रतिभाग किया एवं प्रत्येक टीम में 5 छात्र थे। प्रतियोगिता में छात्रों की कलात्मक प्रतिभा, रचनात्मक सोच व पर्यावरण के प्रति जागृति भाव देखते ही बनता था। प्रतियोगिता में प्रतिभाग हेतु देश-विदेश के छात्रों में गजब का कौतूहल व जोश देखने को मिला जिन्होंने अपनी अभिनय क्षमता का भरपूर प्रदर्शन किया। इस प्रतियोगिता में छात्रों ने अदालत की कार्यवाही का सजीव प्रस्तुतिकरण किया। भारतीय विद्या भवन, महाराष्ट्र की छात्र टीम ने पर्यावरण संरक्षण हेतु जागरूकता का मुद्दा उठाते हुए दलील दी कि जब तक जनमानस प्रतिबद्ध होकर इस दिशा में ठोस कदम नहीं उठायेंगे, तब तक बदलाव नहीं आयेगा क्योंकि विकास के नाम पर कम्पनियां सिर्फ लाभ कमाना चाहती हैं। आर्किड साइन्स कालेज, चितवन, नेपाल से पधारे छात्रों ने वन्य जीव संरक्षण के मुद्दे पर प्रभावपूर्ण कोर्ट ड्रामा प्रस्तुत कियासावित्री पब्लिक स्कूल, गोरखपुर के छात्रों ने मुद्दा उठाया कि मेट्रो रेल परियोजनाओं के कारण पेड़ काटने के साथ ही जल व वायु प्रदूषण की समस्या गहरी हुई है। रूस्तमजी इण्टरनेशनल स्कूल, महाराष्ट्र के छात्रों ने ब्राजील, बोलिविया, पैराग्वे एवं पेरू के जंगलों में लगी आग का मुद्दा उठाया जबकि सी.एम.एस. गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) के छात्रों ने मनुष्यों की अमानवीयता के कारण नष्ट होते पेग्विंग्स, ग्लेशियर्स, कोआला व बाघ की विलुप्त होती प्रजातियों का मुद्दा उठायाइसी प्रकार, कई अन्य प्रतिभागी टीमों ने भी अलग-अलग ज्वलन्त विषयों पर दर्शकों का ध्यान आकर्षित किया।


अपरान्हः सत्र में आज अत्यन्त दिलचस्प वण्डर्स ऑफ नेचर (इन्वार्यनमेन्ट क्विज) का फाइनल राउण्ड सम्पन्न हुआ। जूनियर वर्ग की इस प्रतियोगिता में लिखित राउण्ड से चयनित 8 टीमों ने फाइनल राउण्ड में प्रतिभाग किया एवं अपने ज्ञान, प्रतिभा व सूझबूझ से उपस्थित दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। प्रतिभागी टीमों ने बिजली की गति से पूछे गये प्रश्नों का जवाब देकर न सिर्फ अपनी हाजिरजवाबी का प्रदर्शन किया अपितु पर्यावरण के प्रति अपनी संजीदगी को भी रेखांकित कियाइसी प्रकार, इफ विशेज हैड विंग्स (प्रोडक्ट रीडिजाइनिंग) प्रतियोगिता भी काफी दिलचस्प रहीइस प्रतियोगिता में छात्रों ने विभिन्न प्रकार के उत्पादों को वर्तमान समय की पर्यावरणीय आवश्यकताओं के अनुसार बदलकर उसका प्रदर्शन किया। प्रतियोगिता में प्रतिभागी छात्रों की रचनात्मक सोच व सृजनात्मक प्रतिभा देखते ही बनती थी तथापि हरी-भरी स्वच्छ धरती के प्रति छात्रों की जाकरूकता को सभी ने सराहा।


मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी हरि ओम शर्मा ने बताया कि प्रतियोगिताओं के अलावा आज प्रख्यात पर्यावरणविदों ने कार्यशाला का आयोजन कियाकार्यशाला के अन्तर्गत पर्यावरणविद् श्री निर्मल राघवन ने जल संरक्षण व स्वच्छता पर छात्रों व टीम लीडर्स को जागरूक किया। इसके अलावा, सायंकालीन सत्र में कोआपरेटिव कार्यक्रम 'सेवन वर्ल्डस – वन प्लेनेट' का आयोजन हुआ, जिसमें सभी टीमों को दूसरी टीमों के साथ मिलकर पेन्टिंग के द्वारा नये विश्व की रचना प्रस्तुत कीशर्मा ने बताया कि यह अन्तर्राष्ट्रीय पर्यावरण ओलम्पियाड बड़ी ही सफलतापूर्वक अपने समापन की ओर बढ़ रहा है, जो कल 15 दिसम्बर, रविवार को अपरान्हः 3.00 बजे रंगारंग शिक्षात्मक-साँस्कृतिक कार्यक्रमों एवं पुरस्कार वितरण के साथ सी.एम.एस. कानपुर रोड ऑडिटोरियम में सम्पन्न हो जायेगा। समापन समारोह में देश-विदेश के विजयी प्रतिभागियों को शील्ड, मेडल, सार्टिफिकेट आदि पुरस्कारों से पुरष्कृत कर सम्मानित किया जायेगा।


Comments

Popular posts from this blog

आत्मा अजर अमर है! मृत्यु के बाद का जीवन आनन्द एवं हर्षदायी होता है!

-आध्यात्मिक लेख  आत्मा अजर अमर है! मृत्यु के बाद का जीवन आनन्द एवं हर्षदायी होता है! (1) मृत्यु के बाद शरीर मिट्टी में तथा आत्मा ईश्वरीय लोक में चली जाती है :विश्व के सभी महान धर्म हिन्दू, बौद्ध, ईसाई, मुस्लिम, जैन, पारसी, सिख, बहाई हमें बताते हैं कि आत्मा और शरीर में एक अत्यन्त विशेष सम्बन्ध होता है इन दोनों के मिलने से ही मानव की संरचना होती है। आत्मा और शरीर का यह सम्बन्ध केवल एक नाशवान जीवन की अवधि तक ही सीमित रहता है। जब यह समाप्त हो जाता है तो दोनों अपने-अपने उद्गम स्थान को वापस चले जाते हैं, शरीर मिट्टी में मिल जाता है और आत्मा ईश्वर के आध्यात्मिक लोक में। आत्मा आध्यात्मिक लोक से निकली हुई, ईश्वर की छवि से सृजित होकर दिव्य गुणों और स्वर्गिक विशेषताओं को धारण करने की क्षमता लिए हुए शरीर से अलग होने के बाद शाश्वत रूप से प्रगति की ओर बढ़ती रहती है। (2) सृजनहार से पुनर्मिलन दुःख या डर का नहीं वरन् आनन्द के क्षण है : (2) सृजनहार से पुनर्मिलन दुःख या डर का नहीं वरन् आनन्द के क्षण है :हम आत्मा को एक पक्षी के रूप में तथा मानव शरीर को एक पिजड़े के समान मान सकते है। इस संसार में रहते हुए

लखनऊ में स्मारक समिति कर्मचारियों का जोरदार प्रदर्शन

लखनऊ में स्मारक समिति कर्मचारियों का जोरदार प्रदर्शन स्मारक कर्मचारियों ने किया कार्य बहिष्कार कर्मचारियों ने विधानसभा घेराव का किया ऐलान जानिए किन मांगों को लेकर चल रहा है प्रदर्शन लखनऊ 2 जनवरी 2024 लखनऊ में स्मारक समिति कर्मचारियों का जोरदार प्रदर्शन स्मारक कर्मचारियों ने किया कार्य बहिष्कार और कर्मचारियों ने विधानसभा घेराव का भी है किया ऐलान इनकी मांगे इस प्रकार है पुनरीक्षित वेतनमान-5200 से 20200 ग्रेड पे- 1800 2- स्थायीकरण व पदोन्नति (ए.सी.पी. का लाभ), सा वेतन चिकित्सा अवकाश, मृत आश्रित परिवार को सेवा का लाभ।, सी.पी. एफ, खाता खोलना।,  दीपावली बोनस ।

भगवान चित्रगुप्त व्रत कथा पुस्तक का भव्य विमोचन

भगवान चित्रगुप्त व्रत कथा पुस्तक का भव्य विमोचन लखनऊ, जुलाई 2023, अयोध्या के श्री धर्महरि चित्रगुप्त मंदिर में भगवान चित्रगुप्त व्रत कथा पुस्तक का भव्य विमोचन  किया गया। बलदाऊजी द्वारा संकलित तथा सावी पब्लिकेशन लखनऊ द्वारा प्रकाशित इस पुस्तक का विमोचन संत शिरोमणी श्री रमेश भाई शुक्ल द्वारा किया गया जिसमे आदरणीय वेद के शोधक श्री जगदानंद झा  जी भी उपस्थित रहै उन्होने चित्रगुप्त भगवान् पर व्यापक चर्चा की।  इस  अवसर पर कई संस्था प्रमुखो ने श्री बलदाऊ जी श्रीवास्तव को शाल पहना कर सम्मानित किया जिसमे जेo बीo चित्रगुप्त मंदिर ट्रस्ट,  के अध्यक्ष श्री दीपक कुमार श्रीवास्तव, महामंत्री अमित श्रीवास्तव कोषाध्यक्ष अनूप श्रीवास्तव ,कयस्थ संध अन्तर्राष्ट्रीय के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिनेश खरे, अ.भा.का.म के प्रदेश अध्यक्ष श्री उमेश कुमार जी एवं चित्रांश महासभा के कार्वाहक अध्यक्ष श्री संजीव वर्मा जी के अतिरिक्त अयोध्या नगर के कई सभासद भी सम्मान मे उपस्थित रहे।  कार्यक्रम की अध्यक्षता संस्था के अध्यक्ष दीपक श्रीवास्तव जी ने की एवं समापन महिला अध्यक्ष श्री मती प्रमिला श्रीवास्तव द्वारा किया गया। कार्यक्रम